वीर सावरकर को लेकर राहुल गांधी के बयान पर महाराष्‍ट्र की सियासत गरम

मुंबई। कांग्रेस नेता राहुल गांधी के वीर सावरकर को लेकर दिए बयान के बाद महाराष्‍ट्र की सियासत एक बार फिर गरम हो गई है। शिवसेना ने इस पर आपत्ति जताई है। इसके बाद से सूबे की सरकार की संभावना को लेकर तमाम तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं। हालांकि शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने साफ किया है कि इससे उद्धव ठाकरे सरकार को कोई खतरा नहीं है। एनसीपी नेता अजित पवार ने भी कहा है कि उद्धव ठाकरे, सोनिया गांधी और शरद पवार परिपक्व लोग हैं और वे सही निर्णय ही लेंगे। वीर सावरकर के नाती रंजीत सावरकर ने इस बयान के लिए केंद्र से राहुल गांधी के खिलाफ आपराधिक कार्यवाही की मांग की है।
दरअसल, ‘रेप इन इंडिया’ के बयान को लेकर बीजेपी ने राहुल गांधी के खिलाफ मोर्चा खोला था। बीजेपी ने राहुल से माफी मांगने की मांग की थी। राहुल ने कह दिया था कि उनका नाम राहुल सावरकर नहीं है, वह कभी माफी नहीं मांगेंगे। इसी के बाद से यह सियासी तूफान खड़ा हुआ है।
‘सावरकर के बारे में पढ़ें राहुल’
राहुल के इस बयान पर कांग्रेस के साथ महाराष्ट्र में सरकार में शामिल शिवसेना ने कड़ी आपत्ति जताई है। संजय राउत ने कहा है कि राहुल गांधी के बयान से इतिहास नहीं बदलेगा और उन्‍हें सावरकर के बारे में पढ़ना चाहिए। राउत के इस बयान के बाद से ही महाराष्ट्र में सरकार को लेकर कई तरह की अटकलें भी शुरू हो गईं। हालांकि राउत ने यह भी स्पष्ट किया कि उद्धव सरकार को कोई खतरा नहीं है। वहीं सफाई के लिए एनसीपी नेता अजित पवार भी सामने आए। अजित पवार ने कहा, ‘उद्धव जी, सोनिया जी और शरद जी परिवक्त नेता हैं। वे सही निर्णय ही लेंगे।’
‘सावरकर ने कहा था, गाय हमारी मां नहीं है’
वहीं, एनसीपी नेता छगन भुजबल ने कहा, ‘जब बड़ी हस्तियों की बात आती है तो हर कोई हर बात पर सहमत नहीं होता है। सावरकर के बारे में राहुल जी के अपने विचार हैं। सावरकर ने कहा था कि गाय हमारी मां नहीं है, लेकिन बीजेपी कहती है कि यह है। सावरकर की सोच भी ‘ज्ञानवादी’ थी लेकिन क्या बीजेपी इसे स्वीकार कर सकती है? वो नहीं कर सकती।’
‘राहुल के बयान से इतिहास नहीं बदलेगा’
एक निजी टीवी चैनल से बातचीत में संजय राउत ने कहा, ‘राहुल गांधी के रामलीला मैदान में दिए बयान से इतिहास नहीं बदलेगा और उन्‍हें सावरकर के बारे में पढ़ना चाहिए। राहुल गांधी इतिहास के पन्‍ने नहीं फाड़ सकते हैं। सावरकर ने देश की आजादी में अपना योगदान दिया है। राहुल गांधी के बयान से सावरकर का महत्‍व नहीं होगा। मनमोहन सिंह ने कहा था कि मतभेद हो सकते हैं, लेकिन इतिहास में सावरकर का योगदान है और रहेगा।’
‘राहुल पर कार्यवाही करे सरकार’
उधर, राहुल के बयान पर अब सावरकर के पोते रंजीत सावरकर ने भी आपत्ति जताई है। रंजीत ने कहा, ‘किसी को भी उनके (वीर सावरकर) बारे में अपमानजनक शब्द नहीं कहना चाहिए। सरकार को राहुल गांधी के खिलाफ आपराधिक कार्यवाही करनी चाहिए।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »