मध्यप्रदेश: इंदौर में कोरोना संक्रमित डॉक्टर की मौत

भोपाल। मध्यप्रदेश के इंदौर में एक कोरोना संक्रमित डॉक्टर की मौत हो गई है। जिले के सीएमएचओ ने इसकी पुष्टि कर दी है। इसके साथ ही इंदौर में मृतकों की संख्या 22 पहुंच गई है।
मध्यप्रदेश के इंदौर में कोरोना से सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं।
मध्‍यप्रदेश में कोरोना कहर बरपा रहा है। यहां कोरोना पॉजिटिव मरीजों की कुल संख्या 213 तक पहुंच गई है। इंदौर में अन्‍य कई डॉक्टर भी कोरोना से संक्रमित हैं।
स्वास्थ्य विभाग के सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जड़िया ने बताया कि डॉ. शत्रुघ्न पंजवानी पिछले दिनों कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे और उनका उपचार पहले गोकुलदास में चल रहा था। उसके बाद सीएचएल और फिर उन्हें अरविंदों अस्पताल में शिफ्ट किया था। उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी, आज सुबह उनकी मौत हो गई। डॉक्टर पंजवानी इंदौर के रुपराम नगर में रहते थे।
डॉक्टर की पहली मौत
कोरोना महामारी की वजह से इंदौर को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। प्रदेश में पहली बार किसी डॉक्टर की मौत कोरोना की वजह से हुई है। डॉक्टर की मौत के बाद इंदौर में स्वास्थ्यकर्मी और एहतियात बरत रहे हैं। कोरोना पीड़ितों के इलाज में लगे डॉक्टर और नर्सिंग स्टॉफ का प्रशासन विशेष ख्याल रख रही है। बताया जा रहा है कि कोरोना मरीजों के इलाज के दौरान ही वह संक्रमित हुए।
मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने लिखा कि दूसरों के अमूल्य जीवन की रक्षा और कोविड-19 के विरुद्ध युद्ध लड़ते हुए बलिदान हो जाने वाले डॉक्टर शत्रुघ्न पंजवानी जी की आत्मा की शांति के लिए हम सब प्रदेशवासी ईश्वर से करबद्ध प्रार्थना करते हैं। आप जैसे महामानव को कभी भुलाया ना जा सकेगा। विनम्र श्रद्धांजलि।
इंदौर में 213 मरीज
मध्यप्रदेश के इंदौर में ही कोरोना से सबसे ज्यादा हालत खराब है। बुधवार को भी इंदौर में 40 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इसके साथ ही इंदौर में कोरोना मरीजों की संख्या 213 पहुंच गई। अब तक इंदौर में कुल 22 लोगों की मौत कोरोना से हुई है। इंदौर में हॉट स्पॉट वाले इलाकों की सघन निगरानी की जा रही है।
भोपाल में 50 संक्रमित
इंदौर के बाद राजधानी भोपाल की हालत सबसे ज्यादा खराब है। यहां कोरोना के 94 मरीज मिले हैं। 50 के करीब स्वास्थ्य विभाग के कर्मी और अफसर हैं। बढ़ते खतरे को लेकर सरकार ने सख्त फैसले भी लिए हैं। भोपाल के सीएमएचओ को हटा दिया है। कहा जा रहा है कि धरातल पर वह स्थिति को संभाल नहीं पा रहे थे। अब सरकार ने प्रदेश में एस्मा भी लागू कर दिया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »