यौन शोषण के आरोपों का जवाब देने में एम. जे. अकबर सक्षम: स्मृति इरानी

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री एम. जे. अकबर पर लगे यौन शोषण के आरोपों पर गुरुवार को मीडियाकर्मियों ने जब कपड़ा मंत्री स्मृति इरानी की प्रतिक्रिया लेनी चाही तो उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति पर यह आरोप लगा है वह खुद इस पर जवाब देने के लिए सक्षम हैं। केंद्रीय मंत्री इरानी ने कहा कि अकबर इस मामले पर बोलने के लिए खुद सक्षम हैं और उन्हें खुद बयान जारी करना चाहिए।
इरानी ने कहा, ‘संबंधित व्यक्ति खुद सक्षम है कि वह इस पर जवाब दे सके क्योंकि मैं वहां मौजूद नहीं थी तो इस पर कुछ नहीं कह सकती। उन्हें खुद बयान जारी करना चाहिए।’ उन्होंने आगे कहा, ‘मैं मीडिया कि सराहना करती हूं कि वे अपनी महिला सहकर्मियों के मामले को देख रहे हैं। जो महिलाएं इन मुद्दे पर बोल रही हैं , उन्हें शर्म महसूस नहीं करना चाहिए, न उनका उपहास उड़ाना चाहिए।’
बता दें कि बीजेपी की महिला मंत्रियों ने #Metoo कैम्पेन के तहत यौन उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाने वाली महिलाओं की सराहना की है। एक टीवी इंटरव्यू में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, ‘ मैं अकबर के मामले पर कहने के लिए सही व्यक्ति नहीं हूं लेकिन मैं उन महिलाओं के साहस का समर्थन करती हूं जिन्होंने यौन उत्पीड़न के खिलाफ बोला है। महिलाएं जो इस स्थिति से गुजरी हैं, उनका बहुत बुरा अनुभव रहा होगा। इस वजह से वे अपने साहस से आगे आई हैं जिसका में समर्थन करती हूं।’
वहीं, महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी से जब पूछा गया कि यौन उत्पीड़न के मामले में बॉलिवुड से लेकर राजनीतिज्ञ हस्तियों के नाम आ रहे हैं, क्या उन पर कार्यवाही होनी चाहिए तो उन्होंने कहा, ‘जांच होनी चाहिए। जो मर्द बड़े पद पर होते हैं वे अक्सर ऐसा करते हैं। यह मीडिया, राजनीति और अन्य कंपनियों पर भी लागू होता है। हमें आरोपों को गंभीरता से लेना चाहिए। जब मामले खुलने लगे हैं तो हमें हर मामले को गंभीरता से लेना चाहिए।’
उधर, जल संसाधन मंत्री उमा भारती से जब अकबर के मामले पर उनकी राय जानने की कोशिश की गई तो उन्होंने कहा, मैं किसी एक मामले पर नहीं बोलूंगी लेकिन मैं एक ही बात कहूंगी कि #Metoo कैंपेन का बहुत बड़ा लाभ हुआ है। काम की जगह पर महिलाएं सुरक्षित हो गई हैं। पहले काम की जगह या सार्वजनिक स्थानों पर अभद्रता होने के बाद महिलाएं संकोच में बोल नहीं पाती थीं, लेकिन अब वह संकोच टूट गया।
उल्लेखनीय है कि पूर्व में पत्रकार रह चुके अकबर पर उनके साथ काम कर चुकी छह महिला पत्रकारों ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं। इसके बाद से बीजेपी विपक्ष के निशाने पर है। विपक्ष ने अकबर का इस्तीफा मांगा है। बताया जा रहा है कि नाइजीरिया दौरे पर गए अकबर के स्वदेश वापस लौटने पर पार्टी उनसे जवाब मांगेगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »