लोकतंत्र रक्षा दिवस २५ जून को, डा. सुब्रमण्यम स्वामी करेंगे सम्बोधित

मथुरा। 44 वर्ष पूर्व 25/26 जून की आधी रात को तत्कालीन प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी ने आधी रात को राष्‍ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद के निवास पहुंचकर आपातकाल अध्यादेश पर हस्ताक्षर करवा कर संपूर्ण विपक्ष को रातोंरात जेल में डाल राष्‍ट्रीय स्वयंसेवक संघ जैसे सामाजिक संगठनों पर प्रतिबंध लगाकर आपातकाल घोषित कर सभी नागरिक अधिकारों का हनन कर लिया था।

26 जून की सुबह अधिकांश समाचार पत्रों के संपादकीय कालम रिक्त थे, अर्थात सेंसरशिप लागू कर दी गयी थी ।
तानाशाह सरकार का विरोधकर जेल जाने वाले आंदोनकारियों को कालांतर में लोकतंत्र रक्षक सेनानी की संज्ञा प्रदान कर सम्मानित किया गया। उसी काले दिन को लोकतंत्र रक्षा दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लोकतंत्र रक्षक सेनानी समिति मथुरा द्वारा किया गया है ।

समिति के जिला अध्यक्ष विजय बहादुुर सिंह के अनुसार देश की वर्तमान पीढ़ी को लोकतंत्र के महत्व और तानाशाह शासक के चंगुल से लोकतंत्र को बचाने हेतु क्या मूल्य चुकाया गया, बताये जाने की महती आवश्‍यकता के दृष्‍टिगत ऐसे कार्यक्रम अत्यंत महत्वपूर्ण हैं ।

इस अवसर पर आगामी मंगलवार 25 जून को बी.एस.ए. इंजीनियरिंग कालेज के सभागार में सायं 3.00 बजे से आयोजित कार्यक्रम में आपातकाल विरोधी आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले पूर्व केन्द्रीय मंत्री व वर्तमान राज्य सभा सांसद डा. सुब्रमण्यम स्वामी व जे.पी. आंदोलन के प्रमुख वरिष्‍ठ पत्रकार राम बहादुर राय संबोधित करेंगे ।

समिति के संयोजक विनोद कुमार टेंटीवाल, सह-संयोजक विजय बहादुर सिंह, स्वागताध्यक्ष वीरेन्द्र अग्रवाल, कार्यक्रम संयोजक मुकेश खण्डेलवाल एडवोकेट, व्यवस्था प्रमुख प्रेम अग्रवाल आदि ने सभी लोकतंत्र प्रेमियों से कार्यक्रम में उपस्थित रहने की अपील की है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »