लोकसभा स्पीकर ने आज भगवंत मान को दी नसीहत

नई दिल्‍ली। लोकसभा स्पीकर ओम बिरला सदन में अनुशासन और नियमों के पालन के मामले में काफी सख्त नजर आ रहे हैं। आज आप सांसद भगवंत मान को शून्यकाल में विषय बदलने पर स्पीकर ने डांट लगाई। उन्होंने मान को विषय बदलने पर बिठाते हुए कहा कि विषय बदलने के लिए पहले अनुमति लेनी होती है। बुधवार को भी स्पीकर ने केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को दूसरे सदस्यों को आज्ञा नहीं देने की नसीहत दी थी।
नियमों को लेकर लोकसभा स्पीकर रहते हैं सख्त
शून्यकाल में भगवंत मान को प्रश्न पूछने का मौका दिया गया था। मान ने पहले पंजाब में शिक्षकों के वेतन संबंधी मुद्दे पर प्रश्न पूछने के लिए आवेदन दिया था। आप सांसद ने सदन में इसके स्थान पर विदेशों में भारतीय की मुश्किलों और दूतावास से मदद के लिए रिश्वत का मुद्दा उठाया। इस पर बीच में ही मान को टोकते हुए स्पीकर ने बैठने का आदेश दिया।
लोकसभा अध्यक्ष ने कहा, ‘माननीय सदस्य! जीरो ऑवर में अगर प्रश्न बदलना है तो आपको मुझसे अनुमति लेनी होगी। आपने विषय दिया था पंजाब में शिक्षकों के वेतन का मुद्दा, मैं पढ़ा-लिखा व्यक्ति हूं।’ हालांकि, इसके बाद उन्होंने मान को मुद्दा रखने की अनुमति दे दी।
बिधूड़ी और गौरव गोगोई को भी लगाई डांट
स्पीकर ने सदन के नियम दोहराते हुए कहा कि शून्यकाल में अगर आप विषय बदलना चाहते हैं तो मुझसे अनुमति लें। मैं अनुमति दे दूंगा। भगवंत मान के बोलने से पहले किसी सांसद के बैठकर कुछ बोलने पर भी स्पीकर ने सख्ती दिखाई। उन्होंने सदस्य की ओर हाथ से इशारा कर कहा कि आप बैठे-बैठे मत बोलिए। सदन में आज गौरव गोगोई और रमेश बिधूड़ी आपस में एक-दूसरे से जब उलझने लगे तब भी स्पीकर ने दोनों को सख्ती से बैठने का आदेश दिया।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *