लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला कोटा पहुंचे, पीड़ित परिजनों से की मुलाकात

कोटा। कोटा से सांसद और लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला आज बच्‍चों की मौत पर पीड़ित परिवारों से मिलने अपने संसदीय क्षेत्र पहुंचे। इसके लिए एक केंद्रीय टीम भी कोटा के जेके लोन अस्पताल जांच के लिए पहुंची है।
हालांकि राजस्थान के कोटा में 107 बच्चों की मौत का मामला अब काफी गरमा गया है। मामले को लेकर सियासत भी जारी है। सत्तारूढ़ कांग्रेस ने इसके लिए पूर्ववर्ती बीजेपी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है।
बता दें कि राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग को पिछले दिनों हॉस्पिटल की जांच के दौरान काफी कमियां मिली थीं। अस्पताल में जहां सुअर घूम रहे थे, वहीं दरवाजे टूटे हुए थे। बुनियादी सुविधाओं का अभाव दिखा तो साफ-सफाई बिल्कुल भी नहीं थी। इसे लेकर आयोग ने शिक्षा स्वास्थ्य सचिव को नोटिस भी जारी किया लेकिन कोई जवाब नहीं मिला।
अब आयोग ने सख्ती दिखाते हुए राजस्थान के मुख्य सचिव को यह सुनिश्चित करने के लिए लिखा गया है कि जिले के मुख्यचिकित्साधिकारी 7 जनवरी को सभी दस्तावेजों के उपलब्ध हों। इस बीच राजस्थान के बूंदी में भी 10 बच्चों की मौत की खबर सामने आई।
ऐसे में मामला और गरमा गया है। बीजेपी सांसद और लोकसभा स्पीकर शनिवार को कोटा पहुंचे। उन्होंने पीड़ित परिवारों से मुलाकात की और हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।
इससे पहले सूबे के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने अस्पताल का दौरा किया। उन्होंने वसुंधरा राजे का नाम लिए बगैर पूर्ववर्ती बीजेपी सरकार को अस्पतालों की दुर्दशा के लिए जिम्मेदार ठहराया।
माया बोलीं, कतई संवेदनशील नहीं कांग्रेस
कोटा में 100 से ज्यादा बच्चों की मौत के मामले में बीएसपी सुप्रीमो मायावती लगातार हमलावर हैं। मायावती ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘राजस्थान की कांग्रेसी सरकार में कोटा में लगभग 105 मासूम बच्चों की हुई मौत अति चिन्ताजनक लेकिन इसको लेकर कांग्रेस व इनकी सरकार कतई भी संवेदनशील नजर नहीं आती है। ऐसे में अच्छा होता कि इस मामले में, लोकतांत्रिक संस्थाएं आगे आकर अपनी संवैधानिक जिम्मेदारी को निभातीं।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *