पीएम के गले पड़ने और बाद में आंख मारने पर लोकसभा अध्‍यक्ष राहुल गांधी से नाराज

नई दिल्ली। लोकसभा में शुक्रवार को अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का अपना भाषण खत्म कर पीएम नरेंद्र मोदी से गले मिलने पर स्पीकर सुमित्रा महाजन ने नाराजगी जताई है। लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि राहुल का रवैया हैरान करने वाला था। सदन की गरिमा होती है। पीएम कोई आम आदमी नहीं होता है। कांग्रेस अध्यक्ष का बर्ताव ठीक नहीं था।
स्पीकर ने कहा, ‘सदन में ऐसा ड्रामा देखकर मैं भी हैरान हो गई। पीएम पद की गरिमा होती है। नरेंद्र मोदी पीएम के तौर पर सदन में बैठे हुए थे। गले मिलने के बाद राहुल ने आंख मारी। यह हरकत भी गलत है।’ लोकसभा अध्यक्ष ने कहा, ‘ये समझ लो कि सदन की गरिमा हमे ही रखनी होगी। कोई बाहर का आकर नहीं रखेगा। हमें बतौर सांसद भी अपनी गरिमा भी रखनी है। मैं चाहती हूं कि सब लोग प्रेम से रहें। मेरे दुश्मन नहीं हैं राहुल जी, बेटे जैसे हैं।’ उन्होंने कहा कि किसी से गले मिलना गलत नहीं है, लेकिन सदन की गरिमा भी बनाए रखनी होती है।
उल्लेखनीय है कि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान आज दोपहर सदन में एक अजब ही नजारा देखने को मिला। पीएम मोदी और बीजेपी पर हमला बोलते-बोलते राहुल गांधी जाकर मोदी से गले मिल आए थे। अचानक से कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के इस जैस्चर से एक पल के लिए पीएम मोदी भी चकित रह गए। इसके तुरंत बाद पीएम मोदी भी राहुल गांधी से हाथ मिलाते हुए उन्हें शुभकामना देते हुए दिखे। मोदी से गले मिलने के बाद राहुल गांधी ने कहा कि हिंदू होने का मतलब यही होता है। हालांकि अकाली दल की सांसद हरसिमरत कौर ने इस पर तंज कसते हुए कहा कि यह संसद है, यहां मुन्ना भाई की पप्पी-झप्पी नहीं चलेगी।
दरअसल राहुल गांधी ने अपने संबोधन में नोटबंदी, राफेल डील जैसे मसलों को उठाकर पीएम मोदी, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन समेत पूरी सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। इस दौरान लोकसभा की कार्यवाही भी बाधित हुई। बीजेपी के हंगामे के बाद जब कार्यवाही फिर शुरू हुई तो राहुल गांधी ने किसान लोन माफी और मॉब लिन्चिंग के मसले उठाए। राहुल गांधी ने एक इंटरनेशनल मीडिया हाउस का जिक्र करते हुए कहा कि पहली बार बाहर लिखा जा रहा है कि हिंदुस्तान अपनी महिलाओं की सुरक्षा नहीं कर पा रहा।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »