31 जनवरी के बाद बंद हो जाऐंगे दो दर्जन LIC plans

नई द‍िल्ली। भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (IRDAI) द्ववारा जारी प्रोडक्‍ट गाइडलाइंस के अनुरूप नहीं होने के कारण एलआईसी (भारतीय जीवन बीमा निगम) के लगभग दो दर्जन LIC plans 31 जनवरी के बाद मिलने बंद हो जाएंगे।

गौरतलब है क‍ि नवंबर के अंत में भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (IRDAI) ने जीवन बीमा कंपनियों को उन लाइफ इंश्‍योरेंस और राइडर्स को बाजार से वापस लेने के लिए दो महीने का समय दिया था जो नए प्रोडक्‍ट गाइडलाइंस के अनुरूप नहीं थे। पहले ऐसे प्रोडक्‍ट्स को वापस लेने की अंतिम तारीख 30 नवंबर 2019 थी लेकिन बीमा नियामक ने जीवन कंपनियों को दो महीने का समय विस्‍तार दिया था।

LIC के जो लाइफ इंश्‍योरेंस प्रोडक्‍ट्स और राइडर्स बीमा नियामक के नए दिशानिर्देशों के अनुरूप नहीं हैं उनकी संख्‍या 23 है। इनमें LIC न्‍यू जीवन आनंद, जीवन उमंग, जीवन लक्ष्‍य जैसे कुछ पॉपुलर इंश्‍योरेंस प्‍लान भी शामिल हैं। ये सभी प्रोडक्‍ट नए दिशानिर्देशों के अनुरूप लॉन्‍च किए जाएंगे। मौजूदा जीवन बीमा पॉलिसियों में बदलाव या उनके लिए दोबारा अनुमति लेने की आखिरी तारीख 29 फरवरी 2020 है।

LIC के ये 23 प्‍लान 1 फरवरी से नहीं मिलेंगे

LIC सिंगल प्रीमियम एंडोमेंट प्‍लान, एलआईसी न्‍यू एंडोमेंट प्‍लान, एलआईसी न्‍यू मनी बैक-20 साल,एलआईसी न्‍यू जीवन आनंद, एलआईसी अनमोल जीवन-II, एलआईसी लिमिटेड प्रीमियम एंडोमेंट प्‍लान, एलआईसी न्‍यू चिल्‍ड्रंस मनी बैक प्‍लान,
एलआईसी जीवन लक्ष्‍य, एलआईसी जीवन तरुण, एलआईसी जीवन लाभ प्‍लान, एलआईसी न्‍यू जीवन मंगल प्‍लान, एलआईसी भाग्‍यलक्ष्‍मी प्‍लान, एलआईसी आधार स्‍तंभ, एलआईसी आधार शिला, एलआईसी जीवन उमंग, एलआईसी जीवन शिरोमणि
एलआईसी बीमा श्री, एलआईसी माइक्रो बचत, एलआईसी न्‍यू एंडोमेंट प्‍लस (यूलिप), एलआईसी प्रीमियम वेवर राइडर (राइडर), एलआईसी न्‍यू ग्रुप सुपरएन्‍युएशन कैश एक्‍युमुलेशन प्‍लान (ग्रुप प्‍लान), एलआईसी न्‍यू ग्रुप ग्रेच्‍युटी कैश एक्‍युमुलेशन प्‍लान (ग्रुप प्‍लान), एलआईसी न्‍यू ग्रुप लीव इनकैशमेंट प्‍लान (ग्रुप प्‍लान)

भारतीय जीवन बीमा निगम के प्रबंध निदेशक विपिन आनंद ने कहा कि बंद होने वाले प्रोडक्‍ट्स नए रूप में फरवरी से उपलब्‍ध होंगे। IRDAI के अनुसार, पॉलिसी के लाभों को समझाने, आवधिक स्‍टेटमेंट, यूनिट लिंक्‍ड प्रोडक्‍ट्स के लिए एजेंटों का प्रशिक्षण भी 1 फरवरी 2020 से प्रभावी हो जाएगा। बीमा नियामक ने सभी जीवन बीमा कंपनियों को सलाह दी थी कि वे जल्‍द से जल्‍द नए प्रोडक्‍ट की अनुमति ले लें और आखिरी तारीख का इंतजार न करें।

दरअसल बीमा नियामक IRDAI की कोशिश है कि जीवन बीमा पॉलिसियां ग्राहकों के लिए ज्‍यादा फायदेमंद हों। साथ ही एजेंट ग्राहकों को गलत तरीके से लुभाकर जो पॉलिसियां बेचते हैं उन पर लगाम लगाई जा सके। इसीलिए, बीमा नियामक ने जीवन बीमा के लिए नए गाइलाइंड जारी किए। जो भी जीवन बीमा प्रोडक्‍ट नए दिशानिर्देशों के अनुरूप नहीं हैं, वे 1 फरवरी 2020 से बाजार में नजर नहीं आएंगे।
– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »