राजीव एकेडमी फॉर फार्मेसी में 3Q क्वालिटी कान्सेप्ट पर व्याख्यान

मथुरा। सोमवार को राजीव एकेडमी फॉर फार्मेसी (Rajiv Academy for Pharmacy) मथुरा द्वारा 3Q क्वालिटी कान्सेप्ट इन फार्मा इंडस्ट्रीज विषय पर ऑनलाइन व्याख्यान का आयोजन किया गया।

मुख्य वक्ता फार्मा विशेषज्ञ डॉ. धीरज त्रिपाठी ने छात्र-छात्राओं को थ्रीक्यू क्वालिटी पर विस्तार से जानकारी दी। डॉ. धीरज त्रिपाठी ने बताया कि थ्रीक्यू क्वालिटी कान्सेप्ट दवाइयों की गुणवत्ता और कार्यक्षमता को बढ़ाने में सहायता करता है।

डॉ. त्रिपाठी ने बताया कि फार्मा इंडस्ट्रीज में क्वालिटी मैनेजमेंट क्वालिटी कंट्रोल और क्वालिटी एस्योरेंस डिपार्टमेंट होते हैं। इन डिपार्टमेंटों के माध्यम से दवाइयों की गुणवत्ता और कार्यक्षमता कंट्रोल करने का कार्य किया जाता है। उन्होंने बताया कि क्वालिटी कंट्रोल क्वालिटी मैनेजमेंट का हिस्सा है जोकि दवाइयों की क्वालिटी की आवश्यकता को फुल फील करने के लिए काम करता है। यह डिपार्टमेंट दवाइयों को डिफेक्ट फ्री और अच्छी गुणवत्ता की दवाई देने के लिए काम करता है। डॉ. त्रिपाठी ने छात्र-छात्राओं को बताया कि क्वालिटी एस्योरेंस भी क्वालिटी मैनेजमेंट का ही हिस्सा है लेकिन यह डिपार्टमेंट दवाई की क्वालिटी को निश्चित करने का काम करता है।

आर.के. एज्यूकेशन हब के अध्यक्ष डॉ. रामकिशोर अग्रवाल, उपाध्यक्ष पंकज अग्रवाल तथा प्रबंध निदेशक मनोज कुमार अग्रवाल ने कहा कि ऐसे व्याख्यान छात्र-छात्राओं के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। ऐसे व्याख्यानों से छात्र-छात्राओं का जहां ज्ञान बढ़ता है वहीं उन्हें फार्मा इंडस्ट्रीज में काम करने के तौर-तरीकों की भी जानकारी मिलती है।

Lecture on ThreeQ quality concept at Rajiv Academy for Pharmacy
संस्थान के निदेशक डॉ. ज्ञानेंद्र कुमार शर्मा

संस्थान के निदेशक डॉ. ज्ञानेंद्र कुमार शर्मा ने कहा कि यह व्याख्यान शिक्षकों और विद्यार्थियों के लिए बहुत उपयोगी है। इससे छात्र-छात्राओं को फार्मा इंडस्ट्रीज में काम करने में सहायता मिलेगी। डॉ. शर्मा ने बताया कि थ्रीक्यू क्वालिटी कान्सेप्ट से अच्छी गुणवत्ता और कार्यक्षमता की दवाइयों के उत्पादन में सहायता मिलती है। डॉ. शर्मा ने कहा कि कोरोना संक्रमण के इस दौर में छात्र-छात्राओं को पठन-पाठन के साथ ही विषय विशेषज्ञों के अनुभवों से रूबरू कराना नितांत आवश्यक है। राजीव एकेडमी फॉर फार्मेसी द्वारा इस दिशा में सक्रियता से काम किया जा रहा है।

इस व्याख्यान का लाभ छात्र-छात्राओं के अलावा हिमांशु चोपड़ा, मनीष कुमार शाक्य, तालेश्वर सिंह, राहुल कुमार सिंह, मनु शर्मा, विभा कुमारी, मोनिका सिंह, निधि अग्रवाल, मोहित अग्रवाल, बृजनंदन दुबे, सुरेंद्र शर्मा, पंकज सिंह, केतकी शर्मा, अजय शर्मा, दीक्षा अग्रवाल, रक्षा शर्मा, सौरभ भारद्वाज, बृजेश कुमार शर्मा आदि ने भी उठाया।

  • Legend News
50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *