राजीव एकेडमी में ई-कॉमर्स इन करेंट सेनेरियो पर हुआ व्याख्यान

मथुरा। हमारे देश में ई-कॉमर्स उद्योग तेजी से बढ़ रहा है। प्रतिदिन ई-कॉमर्स मार्केट में नया विस्तार होने से व्यावसायिक गतिविधियों में भी तेजी आ रही है। मौजूदा समय में ई-कॉमर्स ऑनलाइन बाजार में नए ग्राहकों तक पहुंचने के लिए सबसे अच्छा और सस्ता विकल्प है। इसे प्रभावी रूप से लागू किया जाए तो यह ऑनलाइन व्यापार को और अधिक विस्तारित कर सकता है। उक्त विचार राजीव एकेडमी के बीईकॉम पंचम सेमेस्टर के छात्र-छात्राओं से ऑनलाइन व्याख्यान में ई-कॉमर्स कंसल्टेंट के फ्रीलांसर चेतन उपमन्यु ने व्यक्त किए।

श्री उपमन्यु ने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी के युग में पुरानी व्यापार पद्धति को डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से नये आयाम दिए जा रहे हैं। ई-कॉमर्स में ऐसी अनेकों विधियां हैं जिनकी मदद से हम अपने व्यापारिक स्तर को अपग्रेड करके विश्वस्तरीय बना सकते हैं। उन्होंने छात्र-छात्राओं को बताया कि हम सोशल साइट के माध्यम से कम से कम लागत में अपने प्रोडक्ट्स का प्रचार-प्रसार कर सकते हैं। इस विधि से हम यह भी जान सकते हैं कि प्रोडक्ट की किन विशेषताओं के कारण उसे मार्केट में रेस्पांस मिल रहा है। श्री उपमन्यु ने कहा कि ई-कॉमर्स के विद्यार्थी घर बैठे ही संसाधनों का प्रयोग करते हुए अपना व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। ई-कॉमर्स उनके करिअर को बहुत आगे ले जाने में समर्थ है।

उन्होंने बताया कि ई-कॉमर्स के जरिए पता लगाया जा सकता है कि किस प्रोडक्ट में कम लागत में अधिक मुनाफा मिलेगा। ई-कॉमर्स के माध्यम से आज अधिक से अधिक उपभोक्ताओं तक पहुंच बनाई जा सकती है। एकत्रित डेटा से मालूम किया जा सकता है कि किस प्रोडक्ट की मार्केट में अधिक आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि ई-कॉमर्स तकनीक से सहजता से पता किया जा सकता है कि अमुक कम्पनी के प्रोडक्ट को पसन्द करने वाले उपभोक्ताओं की आयु क्या है? आगे ये कैसा प्रोडक्ट पसन्द करेंगे, हम उनकी मांग के अनुसार प्रोडक्ट में कुछ अच्छा परिवर्तन भी कर सकते हैं। श्री उपमन्यु ने बताया कि ई-कॉमर्स हमें सोशल मीडिया मैनेजिंग गोल्स की स्पष्ट जानकारी देता है जिसके आधार पर आज छोटे-छोटे प्रोडक्टों के माध्यम से कम्पनियां बड़े स्तर तक पहुंच रही हैं।

आर.के. एजूकेशन हब के अध्यक्ष डा. रामकिशोर अग्रवाल ने अपने संदेश में कहा कि आजकल मार्केट के साथ-साथ व्यापार भी सूचना प्रौद्योगिकी सपोर्टेड है। डा. अग्रवाल ने विद्यार्थियों से कहा कि फेसबुक, ट्विटर आदि सोशल साइटों का प्रयोग अपने करिअर को आगे बढ़ाने के लिए करें। संस्थान के निदेशक डा. अमर कुमार सक्सेना ने कहा कि आज की युवा पीढ़ी सोशल साइटों के सकारात्मक पहलुओं को ग्रहण कर अपने करिअर को चार चांद लगा सकती है।
-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *