अंडा खाने से पहले उससे जुड़ी अहम बातों के बारे में यहां जानें

जिम जाने वाले और बॉडी बनाने वाले बहुत से लोगों को आपने कच्चा अंडा खाते देखा होगा। लेकिन ऐसा करने से आपकी सेहत को काफी नुकसान हो सकता है लिहाजा अंडा खाने से पहले उससे जुड़ी अहम बातों के बारे में यहां जानें।
आपने कई लोगों को यह कहते सुना होगा कि अंडे का पीला भाग जिसे जर्दी भी कहते हैं ज्यादा नहीं खाना चाहिए क्योंकि यह शरीर में कलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है। ज्यादातर लोग अंडे के सफेद हिस्से को इसीलिए सुरक्षित मानते हैं क्योंकि इसमें फैट कम होता है और कैलरीज भी कम होती है मगर क्या आप जानते हैं कि अंडे के सफेद हिस्से का भी ज्यादा सेवन आपके लिए खतरनाक हो सकता है।
सल्मोना बैक्टीरिया बना सकता है बीमार
अंडे के सफेद भाग में एक खास बैक्टीरिया हो सकता है, जिसे सल्मोना कहते हैं। यह बैक्टीरिया आमतौर पर चिकन की आंतों में पाया जाता है लेकिन कई बार यह बैक्टीरिया अंडे के अंदर भी मौजूद हो सकता है। अगर आप इस बैक्टीरिया से प्रभावित अंडे से बना हाफ फ्राई या कच्चा अंडा खाते हैं तो नुकसान हो सकता है। इससे बचने के लिए आपको अंडे को उच्च तापमान पर पकाना या उबालना होगा। ऐसा करने से बैक्टीरिया खत्म हो जाता है। अधकच्चे या कम पके अंडों में इस बैक्टीरिया के होने की संभावना बनी रहती है।
बायोटीन की हो सकती है कमी
कच्चे अंडे में एक अन्य बैक्टीरिया के पाए जाने की संभावना रहती है, जिसे एल्बुमेन कहते हैं। यह बैक्टीरिया भी सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है। अगर आप कच्चा अंडे खाते हैं तो आपके शरीर में ये बैक्टीरिया प्रवेश कर सकता है। यह बैक्टीरिया शरीर में बायोटिन को नष्ट करने लगता है, जिसके कारण त्वचा संबंधी कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं और बाल झड़ना शुरू हो सकते हैं। बायोटिन एक जरूरी तत्व है जो हमारे शरीर में त्वचा और बालों की ग्रोथ के लिए जरूरी होता है।
हो सकती है ऐलर्जी
एल्बुमेन प्रोटीन के कारण कई लोगों को ऐलर्जी की समस्या भी हो सकती है। इस ऐलर्जी के कारण शरीर में पित्ती, त्वचा पर दाने निकलना, सूजन आना, नजला, सांस की घरघराहट, दस्त, उल्टी, खांसी, ऐंठन, छींक, आदि समस्याएं हो सकती हैं। इन लक्षणों के दिखने पर डॉक्टर से संपर्क करें।
प्रोटीन की ज्यादा मात्रा नुकसानदेह
डॉक्टरों के अनुसार अगर आपको किडनी से जुड़ी किसी तरह की कोई समस्या है तो ज्यादा मात्रा में प्रोटीन खतरनाक हो सकता है। जिन लोगों का ग्लोमरगुलर फिल्टरेशन रेट (जिस गति से किडनी खून को फिल्टर कर मूत्र को अलग करती है) कम है, उनके लिए अंडे का प्रोटीन खतरनाक हो सकता है। जिन लोगों को किडनी से जुड़ी समस्या है उन्हें 0.6 से 0.8 ग्राम प्रोटीन से ज्यादा नहीं लेना चाहिए अगर किडनी या लिवर से जुड़ी कोई समस्या है तो अंडे खाने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »