अपहृत वकील की बरामदगी को लेकर वकीलों का प्रदर्शन

फ‍िरोजाबाद। दस दिन पूर्व अपहृत अधिवक्ता अकरम अंसारी का पुलिस अभी तक सुराग नहीं लगा पाई है। अपने साथी की बरामदगी की मांग को लेकर तहसील के वकील भी तीन दिन से कामकाज नहीं कर रहे हैं। बुधवार को दीवानी कचहरी से लेकर जिले की सभी तहसीलों के अधिवक्ता लामबंद हो गए। उन्होंने अकरम अंसारी की सकुशल वापसी के लिए हुंकार भरी। मुख्यालय पर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की, जुलूस निकाला और डीएम को ज्ञापन दिया।

थाना दक्षिण के मोहल्ला राजपूताना निवासी सदर तहसील में अधिवक्ता अकरम अंसारी तीन फरवरी की शाम को आगरा गए थे, तभी से लापता हैं। परिजनों ने आगरा के थाना सिकंदरा में रिपोर्ट दर्ज कराई है। 50 लाख रुपये की फिरौती मांगने के बाद सिकंदरा पुलिस ने यह मामला अपहरण में दर्ज कर लिया था। दस दिन बीतने के बाद भी आगरा पुलिस अधिवक्ता का कोई सुराग नहीं लगा सकी।

बुधवार को बार एसोसिएशन के आह्वान पर जनपद न्यायालय के साथ जिले के सभी तहसीलों के वकील न्यायालय परिसर में इकट्ठे हुए। बार के अध्यक्ष नाहर सिंह यादव व महासचिव सुरेंद्र सिंह कुशवाह, दिनेश सिंह यादव, धमेंद्र यादव, पूर्व अध्यक्ष नृपति सिंह यादव, धर्म सिंह यादव, भरत सिंह यादव के नेतृत्व में वकीलों ने जुलूस निकाला। अधिवक्ताओं ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। जुलूस न्यायालय से शुरू हुआ और हाईवे होते हुए कलक्ट्रेट तक पहुंचा। यहां वकीलों ने राज्यपाल के नाम ज्ञापन डीएम को सौंपा। डीएम ने उन्हें भरोसा दिया कि वह अधिवक्ता की शीघ्र बरामदगी के लिए पुलिस के माध्यम से प्रयास कराएंगे। इस दौरान केके चौहान, योगेंद्र सिंह, वसीमउद्दीन अंसारी, देवेंद्र यादव, आलिया रफत सादमा, लियाकत अली, शकील अहमद, ओपी बघेल, आरिफ, माहिर अली, शरद यादव, सौरभ यादव, आरिफ इकबाल, रोहित पारस, शमशाद अली खान, केके राजपूत, उमेश ओझा आदि अधिवक्ता शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »