वर्चुअल कोर्ट के दौरान सिगरेट पी रहे थे वकील साहब, जज ने ठोका हजार रु. का जुर्माना

अहमदाबाद। गुजरात में एक वकील ने वर्चुअल कोर्ट के दौरान स्मोकिंग की। नाराज गुजरात हाई कोर्ट ने वकील के ऊपर 10000 रुपये का जुर्माना लगाया है। हाई कोर्ट ने वकील के इस कृत्य को गैर जिम्मेदाराना भी बताया।
एक जमानत के केस में हाई कोर्ट सुनवाई कर रही थी। वकील जेवी अजमेरा अपनी कार में बैठकर कोर्ट की वर्चुअल कार्यवाही में शामिल हुए। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान पाया गया कि अजमेरा सिगरेट पी रहे हैं। जस्टिस AS सुपेहिया उनके ऊपर जमकर नाराज हुए।
कार में बैठकर पी रहे थे सिगरेट, कोर्ट ने लगाई फटकार
जस्टिस सुपेहिया ने कहा कि एक वकील से यह अपेक्षा नहीं की जा सकती कि वह इस तरह कोर्ट की कार्यवाही के दौरान सिगरेट पीए। वकील के इस तरह के व्यवहार पर उसकी सख्त निंदा की जानी चाहिए। एक वकील अगर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए भी कोर्ट की सुनवाई में हिस्सा ले रहा है तो भी उसे कोर्ट का सम्मान बनाए रखना चाहिए। वकील के गरिमामय शिष्टाचार से ही कोर्ट और जज का सम्मान होता है।
घर या दफ्तर से ही कोर्ट हियरिंग में शामिल होने का आदेश
हाई कोर्ट ने इस घटना के बाद सख्ती से यह भी कहा कि अब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान वकील को या तो अपने घर पर रहना जरूरी होगा या फिर दफ्तर में। इस तरह से कार या यहां-वहां बैठकर वर्चुअल सुनवाई नहीं होगी। वकीलों को कोर्ट की सुनवाई के दौरान अब ठीक से बैठना भी जरूरी होगा। हाई कोर्ट ने बार काउंसिल ऑफ गुजरात और हाई कोर्ट के बार एसोसिएशन को भी निर्देश दिया है कि सभी वकीलों निर्देशित करें कि कोर्ट की कार्यवाही के दौरान वह गरिमापूर्ण व्यवहार करें।
एक्शन लेने के लिए रजिस्ट्रार को दिए निर्देश
हाई कोर्ट ने ज्युडिशल रजिस्ट्रार को कहा है कि वह वकील अजमेरा के खिलाफ एक्शन लें। जस्टिस ने रजिस्ट्रार से इस मामले में दस दिनों के अंदर रिपोर्ट मांगी है। रिपोर्ट की एक कॉपी रजिस्ट्री के जरिए बार काउंसिल को भी भेजने को कहा गया है। जस्टिस सुपेहिया ने काउंसिल और असोसिएशन से कहा है कि कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान शिष्टाचार बनाए रखें।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *