सुशांत सिंह और दिशा सालियान से जुड़ी फेक न्‍यूज़ पर वकील गिरफ्तार

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत और उनकी पूर्व मैनेजर दिशा सालियान से जुड़ी झूठी खबरें फैलाने के आरोप में एक वकील को गिरफ्तार किया गया है। मुंबई पुलिस के साइबर सेल ने दिल्ली निवासी विभोर आनंद को अरेस्ट किया है। आनंद खुद के वकील होने का दावा करते हैं। आनंद पर सुशांत और उनकी पूर्व मैनेजर की मौत को लेकर सोशल मीडिया पर कई अपमानजनक और सनसनीखेज पोस्ट लिखने का आरोप है। आनंद का ट्विटर अकाउंट भी सस्पेंड कर दिया है।
आनंद ने कथित तौर पर महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे और राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख के साथ सुशांत और दिशा की मौत को जोड़ते हुए यूट्यूब पर एक वीडियो पोस्ट किया था। आनंद ने वीडियो में दावा किया था कि दिशा सालियान (28) की हत्या हुई थी और उससे पहले उनके साथ गैंगरेप हुआ था। आनंद ने इसके पीछे बॉलीवुड के कई बड़े लोगों के अलावा महाराष्ट्र के एक नेता का नाम लिया था।
9 जून को हुई थी दिशा की मौत
पुलिस का यह एक्शन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर झूठी खबरें और नफरत भरे पोस्ट शेयर करने पर चेतावनी की तरह देखा जा रहा है। बता दें कि पुलिस जांच के अनुसार 9 जून को दिशा की मलाड स्थित एक बिल्डिंग से कूदकर आत्महत्या की थी जहां उनके मंगेतर रहते थे।
19 अक्टूबर तक पुलिस कस्टडी
पुलिस का कहना है कि सिटी कोर्ट से चेतावनी मिलने के बाद भी विभोर आनंद (31) लगातार झूठे मनगढंत पोस्ट लिख रहे थे और कई लोगों को निशाना बना रहे थे। पुलिस ने उन्हें दिल्ली स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया और गुरुवार देर रात मुंबई लाया गया। विभोर को 19 अक्टूबर तक पुलिस कस्टडी में रखा गया है। उनके खिलाफ आईपीसी और आईटी ऐक्ट की तमाम धाराओं के तहत केस दर्ज हुआ है।
फेक न्यूज़ फैलाने वाले 14 और लोगों की तलाश
आनंद के वकील हितेश पटेल ने कहा, ‘एफआईआर राजनीति से प्रेरित है, मेरे क्लाइंट ने सिर्फ अपने विचार व्यक्त किए थे।’ विभोर के अलावा 14 अन्य लोगों की भी पुलिस को तलाश है जिन्होंने सोशल मीडिया पर झूठी खबरें शेयर की थीं।
बॉम्बे सिविल कोर्ट ने दिया था आदेश
आनंद को बॉम्बे सिविल कोर्ट से हिदायत भी मिली थी और मनगढंत व फेक न्यूज वाले पोस्ट हटाने का आदेश मिला था। बावजूद इसके वह पोस्ट करते रहे। यह आदेश एक ऐक्टर-प्रोड्यूसर की याचिका पर आया था जिनका नाम सालियान केस में घसीटा जा रहे थे। बावजूद इसके आनंद सिलेब्रिटी का नाम लेते रहे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *