गबन के आरोप में Madrasa के पूर्व प्रबंधक के खिलाफ मुकदमा दर्ज

Madrasa के पूर्व प्रबंधक चार वर्षों तक कोषागार से निकालते रहे पैसा

लखनऊ। गबन के आरोप में Madrasa जामिया वारसिया के पूर्व प्रबंधक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। वैध प्रबंधक रहे बिना लगातार चार वर्षों तक प्रबंधक की हैसियत से कोषागार से वेतन निकालने के आरोप में मदरसा जामिया वारसिया के पूर्व प्रबंधक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। पूर्व प्रबंधक पर जिला अल्पसंख्यक कार्यालय को गुमराह करने, फर्जी दस्तावेज लगाने, वेतनबिल पर हस्ताक्षर कर सरकारी पैसे का गबन करने का आरोप है।

गोमती नगर विशाल खंड-4 स्थित Madrasa दारूल उलूम वारसिया की प्रबंध समिति का समय 26 दिसम्बर 2013 को समाप्त हो गया था। चुनाव कराया जाना था लेकिन प्रबंध चुनाव होने न होने को लेकर विवाद वर्षों चलता रहा। मामला चिट फंट से होते हुए सत्र न्यायालय व हाईकोर्ट तक चला। इधर तत्कालीन प्रबंधक शरीफुल हसन बिना विभाग को बताए इस तरह चार वर्षों तक प्रबंधक की हैसियत से शिक्षक और कर्मचारियों का वेतन आदि का भुगतान कोषागार से अपनी हस्ताक्षर से करते रहे जबकि दिसम्बर 2013 के बाद मदरसे की प्रबंध कमेटी का चुनाव ही नहीं हुआ। शरीफुल हसन ने इसकी जानकारी जिला अल्पसंख्यक कार्यालय को भी नहीं दी। जब मामला संज्ञान में आए तो अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी बाकायदा नोटिस दी, जवाब मांगा। जांच के बाद फिर पूर्व प्रबंधक के खिलाफ आपराधिक षड़यंत्र और गबन के आरोप में गोमतीनगर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »