लता मंगेशकर ने कहा, नकल से आंशिक सफलता ही संभव

लता मंगेशकर का लोकप्रिय गाना ‘एक प्यार का नगमा है’ रेलवे स्टेशन पर गुनगुनाकर रातों-रात सुर्खियों में आयी रानू मंडलके गाने की कला पर लता मंगेशकर ने प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा है कि कभी भी नकल करके आगे बढ़ा नहीं जा सकता और नकल से मिलने वाली सफलता भी आंशिक होती है.
मालूम हो कि रेलवे स्टेशन पर गाना गाकर इंटरनेट की सनसनी बन चुकीं रानू मंडल टीवी से लेकर सोशल मीडिया और न्यूज़ चैनल्‍स पर छायी हुई हैं.
बॉलीवुड सिंगर हिमेश रेशमिया ने उनसे अपनी आने वाली फिल्म के लिए ‘तेरी मेरी कहानी’ और ‘आशिकी में तेरी’ रिकॉर्ड करवाया है, जो काफी वायरल हो रही है. इसके अलावा, उन्हें कई ऑफर्स भी मिल चुके हैं.
बहरहाल, एक समाचार एजेंसी को दिये इंटरव्यू में लता मंगेशकर ने कहा है कि अगर मेरे नाम और मेरे काम से किसी का थोड़ा भी भला होता है तो मैं अपने आप को खुशनसीब समझती हूं लेकिन यह भी सच्चाई है कि आप जीवन में कभी नकल से आगे नहीं बढ़ पायेंगे. उन्होंने कहा कि ऐसे बहुत से लोग होते हैं जो लोगों का ध्यान खींचने के लिए रफी साहब, मुकेश जी के गाने गाते हैं लेकिन कुछ समय के बाद उन्हें भुला दिया जाता है.
रानू के बारे में बात करते हुए उन्होंने आगे कहा कि टीवी शो में भी बहुत से बच्चे अच्छा गाना गाते हैं, लेकिन क्या उन्हें याद रखा जाता है. मैं खुद सिर्फ सुनिधि चौहान और श्रेया घोषाल को ही जानती हूं. उन्होंने कहा, जीवन में आगे बढ़ने के लिए किसी का सहारा मत लो… बल्कि हमेशा ओरिजनल रहो. उन्होंने कहा कि आप दूसरों के गानों को जरूर गाएं, लेकिन अपनी खुद की भी पहचान बनाएं. अगर आशा भोसले अपनी खुद की शैली विकसित नहीं करतीं, गानों पर जोर नहीं डालतीं तो आज वो केवल मेरी परछाई बनकर रह जातीं. वह एक बड़ा उदाहरण हैं कि किस तरह कोई व्यक्ति अपने टैलेंट को आगे ले जा सकता है.
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »