लालू की पुत्रवधू ने पति, सास और ननद के खिलाफ दर्ज कराई एफआईआर

पटना। आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव की पत्नी ऐश्वर्या राय ने अपने पति, सास बिहार की पूर्व मुख्‍यमंत्री राबड़ी देवी और ननद मीसा भारती पर एफआईआर दर्ज कराई है।
पटना के 10 सर्कुलर रोड स्थित राबड़ी के आवास के बाहर रविवार को देर शाम ऐश्वर्या ने आरोप लगाया कि राबड़ी देवी ने अपनी महिला सुरक्षाकर्मियों के साथ मिलकर उनके बाल खींचे और मारपीट करके घर से बाहर निकाल दिया।
महिला पुलिस थाने की एसएचओ आरती कुमारी जायसवाल ने कहा कि पुलिस को तीनों लोगों के खिलाफ ऐश्‍वर्या की एफआईआर मिल गई है और अब हम आगे की कार्यवाही करेंगे।
ऐश्वर्या ने आरोप लगाया, ‘तेज (ऐश्वर्या के पति जिनसे तलाक का मामला कोर्ट में विचाराधीन है) के उनके माता—पिता को लेकर आपत्तिजनक पोस्टर (पटना के बीएन कालेज में लगाया गया पोस्टर) लगाए जाने के बारे में जब मैंने अपनी सास से पूछा तो अपनी महिला सुरक्षाकर्मी के साथ मिलकर मेरे बाल खींचकर मारपीट की और मेरा मोबाइल फोन छीन लिया। मोबाइल में इस घटना को लेकर साक्ष्य थे। मेरा सारा सामान रखकर सुरक्षाकर्मियों की मदद से मुझे घसीटते हुए अपने घर से बाहर निकाल दिया गया।’
तेजस्‍वी को पूरे मामले की जानकारी पर कुछ नहीं करते
ऐश्‍वर्या ने आरोप लगाया कि इस पूरे मामले की जानकारी उनके देवर (बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता और लालू के छोटे पुत्र) तेजस्वी प्रसाद यादव को है लेकिन वह भी कुछ नहीं करते। ऐश्वर्या ने राबड़ी पर उन्हें भोजन नहीं देने का आरोप लगाते हुए कहा कि इससे पूर्व गत सितंबर महीने में भारी बारिश के दौरान भी मुझे घर से निकाल दिया था लेकिन अदालत के हस्तक्षेप के बाद वह अपने घर में वापस लौट पाई थीं।
उल्लेखनीय है कि इस घटना के बाद न तो तेज प्रताप यादव और न ही पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी का कोई बयान सामने आया है। ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय ने अपने दामाद तेज प्रताप यादव को एक पागल लड़का बताया है। उन्होंने अपनी बेटी के साथ राबड़ी देवी के सुलूक की ओर इशारा करते हुए कहा कि हम राजनीतिक लड़ाई तो लड़ेंगे ही, राबड़ी देवी को एक्सपोज भी करेंगे। जो घर की महिला को सुरक्षा नहीं दे सकती है, वह बाहर की महिलाओं को क्या सुरक्षा देगी।
‘ऐश्वर्या को घर में खाना नहीं दिया जाता’
ऐश्वर्या की मां पूर्णिमा राय ने आरोप लगाया कि ऐश्वर्या को घर में खाना नहीं दिया जाता था। वह अपने घर से खाना उसे भेजती थीं। बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी ने मामले पर मीडिया से बातचीत में आरोप लगाया कि यह वर्तमान के ज्वलंत मुद्दों से लोगों का ध्यान हटाने के लिए यह सारा क्रियाकलाप वहीं से हो रहा है। उन्होंने कहा कि इस मामले में मुझे कुछ नहीं कहना। यह दो लोगों के बीच का मामला है और यह अदालत के समक्ष है और अदालत इस पर निर्णय लेगी।
इस बीच आरजेडी प्रवक्ता और विधायक शक्तिसिंह यादव ने ऐश्वर्या द्वारा राबड़ी पर मारपीट के आरोप को निराधार बताते हुए कहा कि उस समय वह राबड़ी देवी के ही आवास में मौजूद थे। बाद में सचिवालय थाना पुलिस ऐश्वर्या को पूछताछ के लिए महिला थाना ले गई।
उल्लेखनीय है कि ऐश्वर्या राय की मई 2018 में तेज प्रताप के साथ शादी हुई थी। गत सितंबर महीने में भी ऐश्वर्या ने राबड़ी देवी पर मारपीट का आरोप लगाया था। उस समय उनके माता-पिता दोनों 10 सर्कुलर रोड पर पहुंचकर धरने पर बैठ गए थे। बाद में सुलह के बाद ऐश्वर्या को उनकी ससुराल में जगह मिल पायी थी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *