लालू प्रसाद यादव ने स्पष्ट किया, तेजस्वी ही उनके उत्तराधिकारी होंगे

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने स्पष्ट कर दिया कि तेजस्वी ही उनके उत्तराधिकारी होंगे। सभी लोगों ने उन्हें स्वीकार किया है। दोनों भाइयों में अच्छा चल रहा है… भाई-भाई एक साथ हैं। आरजेडी मुखिया ने खुले शब्दों में अपने सियासी वारिस का ऐलान कर दिया। उन्होंने कहा कि लोग नीतीश कुमार को पसंद नहीं करते हैं। अपने ‘विसर्जन’ वाले कमेंट पर कहा कि इसका मतलब गोली मरवाना नहीं होता है। आरजेडी मुखिया ने एक न्यूज़ चैनल के साथ बात करते हुए हर मुद्दे पर खुलकर अपनी बात रखी। उन्होंने बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास को ‘भकचोन्हर’ कहने को लेकर भी टिप्पणी की है। जानिए क्या कहा।
‘भकचोन्हर’ वाले कमेंट पर बोले लालू, ये कोई गाली नहीं है
भक्त चरण दास को ‘भकचोन्हर’ वाले बयान पर लालू यादव ने कहा कि मैंने कुछ अपमानित करने जैसा शब्द नहीं कहा है। आरजेडी मुखिया ने कहा कि ‘भकचोन्हर’ का मतलब होता है नासमझ, बेवकूफ, नहीं समझने वाला। ये कोई गाली नहीं है पढ़ लीजिए, डिक्शनरी निकाल कर देख लीजिए। हमारी भाषा नहीं है गाली देने की।
कांग्रेस से गठबंधन पर क्या कहा जानिए
कांग्रेस पार्टी से गठबंधन टूटने के सवाल पर लालू यादव ने कहा कि लोकल स्तर पर अगर हम कांग्रेस के लिए सीट छोड़ देते तो कांग्रेस यहां नहीं जीतती इसलिए यहां हमने अपना उम्मीदवार उतारा है। तारापुर पर उम्मीदवारी को लेकर कहा कि हमें सबका समर्थन है।
‘विसर्जन’ कमेंट पर बोले, इसका मतलब गोली मरवाना नहीं होता
‘विसर्जन’ वाले कमेंट पर लालू यादव ने कहा कि नीतीश कुमार ने विसर्जन का मतलब दूसरा कुछ समझ लिए। उन्हें लगा कि हम गोली मरवा देंगे। ऐसा नहीं है विसर्जन का मतलब है सारा गाना बजाना के बाद विसर्जन कर देना। हम काहे गोली मरवाएंगे। हम कोई क्रिमिनल हैं कि गोली मरवाएंगे। सहानुभूति के लिए ऐसी बातें बोल रहे हैं। हम लोग सब संभल कर बात करते हैं।
तेजस्वी यादव ही होंगे उत्तराधिकारी
लालू यादव ने अपने 15 साल के राज का जिक्र करते हुए कहा कि हमने अपने समय में स्थायी सरकार दी। गरीबों को हक दिया। लालू यादव ने 2020 विधानसभा चुनाव के नतीजों पर सवाल उठाते हुए भी नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले एनडीए पर सवाल उठाए। आरजेडी मुखिया ने कहा कि तेजस्वी यादव ही उनके उत्तराधिकारी होंगे। सभी लोगों ने उन्हें स्वीकार किया है।
तेजप्रताप को बीजेपी के लोग गुमराह कर देते हैं
तेजस्वी यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने के सवाल पर लालू यादव ने कहा कि इस तरह की बात करके बाप-बेटे में विवाद लाना चाहते हैं। बदमाशी करते हैं ये लोग, हम राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। जब हम राजनीति से अलग होंगे तो ये लोग बनेंगे और कौन बनेगा। तेजस्वी-तेज प्रताप के बीच रिश्तों पर लालू यादव ने कहा कि दोनों हमारे बेटे हैं। भाई-भाई हैं। हालांकि, तेजप्रताप के साथ बीजेपी के लोग रहते हैं तो गुमराह कर देते हैं। दोनों भाई साथ हैं परिवार एक साथ हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *