Hurricane ओखी केरल में 12 लोगों की जान लेने के बाद लक्षद्वीप पहुंचा

कवरत्ती तिरुवनंतपुरम। Hurricane ओखी के प्रभाव से लक्षद्वीप द्वीपसमूह में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश होने के कारण कई मकानों को नुकसान पहुंचा है, नारियल के पेड़ उखड़ गए और संचार सेवाएं बाधित हो गई हैं।

सूत्रों ने बताया कि भारी बारिश के कारण जल स्तर बढ़ने से कल्पेनी द्वीप में आज सुबह मछली पकड़ने की पांच नौकाएं क्षतिग्रस्त हो गईं। लक्षद्वीप में चक्रवाती तूफान ओखी के अगले 24 घंटे में और मजबूत होने की आशंका है। बांग्ला में ओखी का मतलब ‘आंख होता है।

मौसम विभाग के अनुसार, अगले 24 घंटे के दौरान चक्रवात के लक्षद्वीप द्वीपसमूह में पश्चिम-उत्तरपश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है और इसके बाद 48 घंटे के दौरान वह उत्तर पूर्व की ओर मुड़ेगा। मौसम विभाग के सूत्रों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे के दौरान मिनिकॉय द्वीप में 14 सेंटीमीटर तक बारिश हुई।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पूर्वी कल्पेनी और मिनिकॉय में विभिन्न स्थानों पर नारियल के पेड़ उखड़ गए और मकान क्षतिग्रस्त हो गए। नुकसान का आकलन किया जा रहा है।

केरल और तमिलनाडु से 12 नौकाओं में सवार होकर समुद्र में उतरे मछुआरों को बचाने के प्रयास किए जा रहे हैं। बुलेटिन में कहा गया है कि लक्षद्वीप में अगले 24 घंटे में 120-130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से प्रचंड हवाएं चलने की आशंका है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि hurricane के कारण केरल तट पर ऊंची लहरें उठने का अनुमान है। -एजेंसी