लाहौर हाई कोर्ट ने दी Maryam Nawaz को ज़मानत

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी Maryam Nawaz को लाहौर हाईकोर्ट ने जमानत दे दी है, मरियम को यह जमानत चौधरी शुगर मिल केस में मिली है।

Lahore High Court ने मरियम नवाज को चौधरी शुगर मिल मामले ( Chaudhry Sugar Mills Case) में जमानत दे दी है। पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (Pakistan Muslim League- Nawaz) की नेता मरयम को 8 अगस्त को गिरफ्तार किया गया था।

कोर्ट ने पीएमएल-एन नेता को जमानत के लिए एक-एक करोड़ रुपये के दो निजी मुचलके और अतिरिक्त 7 करोड़ रुपये जमा करने का आदेश दिया है। इसके अलावा मरियम को अपना पासपोर्ट बी सरेंडर करना होगा। 31 अक्टूबर को हाई कोर्ट ने इस मामले में अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

न्यायमूर्ति अली बकर नजफी और न्यायमूर्ति सरदार अहमद नईम की उच्च न्यायालय की दो सदस्यीय पीठ ने ये फैसला सुनाया। इस दौरान मरयम नवाज और राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (NAB) के कानूनी प्रतिनिधि भी अदालत में उपस्थित थे।

पीएमएल-एन उपाध्यक्ष ने 30 सितंबर को उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था, जिसमें चौधरी शुगर मिल मामले में गिरफ्तारी के बाद जमानत की मांग की गई थी। इस मामले में मरियम नवाज पर मनी लॉन्ड्रिंग का संदेह है।

अपने पिता और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की अचानक तबियत खराब होने के बाद मरियम नवाज ने 24 अक्टूबर को याचिका दायर कर मौलिक अधिकारों और मानवीय कारणों के आधार पर तत्काल जमानत की मांग की थी। 29 अक्टूबर को इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने अल अजीजिया मामले में नवाज शरीफ की सजा को आठ हफ्ते के लिए टाल दिया था।

यह था मामला

शरीफ परिवार के सदस्यों पर चीनी मिल के शेयरों की बिक्री और खरीद की आड़ में मनी लॉन्ड्रिंग में शामिल होने का आरोप था। राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (ऐनएबी) ने नवाज शरीफ पर चौधरी शुगर मिल्स मामले में प्रत्यक्ष लाभार्थी होने का आरोप लगाया था।

एनएबी ने नवाज की बेटी मरियम पर भी आरोप लगाया था। मरियम को उसके चचेरे भाई यूसुफ अब्बास के साथ अगस्त में गिरफ्तार किया गया था। एनएबी ने कहा था कि चीनी मिलों में मरियम के 12 मिलियन से अधिक मूल्य के शेयर हैं।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *