Folic Acid की कमी से हो सकती हैं कई शारीरिक परेशानियां

Folic Acid एक ऐसा रसायन है, जो शरीर की क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को ठीक करने और नई कोशिकाओं के बनाने में सहयोग करता है। इसके साथ ही स्वास्थ्य संबंधी कई कार्यों में इसका अहम रोल है। यह खाद्य पदार्थों में प्राकृतिक रूप से मौजूद रहता है लेकिन किसी के शरीर में इसकी कमी को पूरा करने लिए Folic Acid का उपयोग किया जाता है। यह फोलेट का कृत्रिम रूप है।
ये हैं Folic की कमी के लक्षण
Folic Acid को विटामिन बी9 भी कहा जाता है। शरीर में फोलेट की कमी होने पर एनीमिया, थकान, कमजोरी, जल्द और बहुत गुस्सा आना, सांस फूलना, चिड़चिड़ापन आदि हो सकते हैं। अगर आप इन स्थितियों का सामना कर रहे हैं तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।
Folic Acid वाले फूड
Folic Acid, विटामिन बी9 का एक कृत्रिम रूप है। यह प्राकृतिक रूप से खाद्य पदार्थों में नहीं पाया जाता बल्कि फोलेट के रूप में कुछ फलों और सब्जियों में पाया जाता है। अनाज से बनने वाले खाद्य पदार्थों में प्रॉसेसिंग के वक्त इसका उपयोग किया जाता है। ताकि यह एक सप्लीमेंट के रूप में का करे। Folic Acid से भरपूर खाद्य पदार्थों में मक्की का आटा, दलिया, सफेद चावल, वाइट पास्ता, प्रोटीन बार जैसे फूड शामिल हैं।
इन फलों में होता है फोलेट
जैसा कि हमने बताया कि Folic Acid फोलेट का कृत्रिम रूप है। फोलिक एसिड का उपयोग फोलेट की कमी को पूरा करने के लिए किया जाता हैं। फोलेट कई फल और सब्जियों में पाया जाता है। इनमें हरी पत्तेदार सब्जियां, फलियां, एवोकाडो, चुकंदर, खट्टे फल, ड्राई फ्रूट्स, केले और पपीता शामिल हैं।
यह दाल भी है कारगर
मसूर की दाल में पोटेशियम के साथ ही फोलेट भी पाया जाता है। जो लोग मीट खाते हैं, उन्हें बीफ और चिकन से फोलिक एसिड मिल जाता है लेकिन शाकाहारी लोगों को मसूर की दाल का सेवन जरूर करना चाहिए। जिन लोगों को बीपी की समस्या है यह दाल उनके लिए भी लाभकारी है।
इनके लिए बहुत जरूरी
गर्भवती महिलाओं के लिए फोलिक एसिड का सेवन बहुत जरूरी होता है क्योंकि उनके अंदर एक नया जीवन निर्मित हो रहा होता है। ऐसे में अगर उनके शरीर में फोलिक एसिड की कमी होती है तो बच्चा कई तरह की बीमारियों से ग्रसित हो सकता है लेकिन इसका सेवन डॉक्टर की देखरेख और सलाह पर ही करना चाहिए।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »