Kritika Dubey ने बढ़ाया KD मेडिकल काॅलेज का मान

मथुरा। आज बेटियां हर क्षेत्र में अपनी मेधा और कौशल का परचम फहराते हुए अपने माता-पिता तथा शैक्षिक संस्थान का मान बढ़ा रही हैं। हाल ही में डा. भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय के गरिमामय दीक्षांत समारोह में एम.बी.बी.एस. द्वितीय वर्ष के परीक्षा परिणामों में के.डी. मेडिकल कालेज-हास्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर की मेधावी छात्रा Kritika Dubey को यूनिवर्सिटी में सर्वोच्च अंक हासिल करने पर उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के करकमलों से सम्मानित होने का अवसर मिला। कृतिका ने प्रथम वर्ष की परीक्षा में भी यूनिवर्सिटी में सर्वाधिक अंक हासिल किए थे।

के.डी. मेडिकल कालेज की कृतिका दुबे ने अपनी कुशाग्रबुद्धि का परिचय देते हुए डा. भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय के एम.बी.बी.एस. द्वितीय वर्ष के परीक्षा परिणामों में 450 अंक हासिल किए। कृतिका ने अपनी मेधा से डा. भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय से सम्बद्ध तीन अन्य कालेजों के छात्र-छात्राओं को पीछे छोड़ा। कृतिका अपनी इस उपलब्धि का श्रेय अपने माता-पिता के प्रोत्साहन और के.डी. मेडिकल कालेज की उच्चस्तरीय शिक्षा व्यवस्था को देते हुए कहती हैं कि यहां मुझे परिवार जैसा माहौल मिला है। मैंने चूंकि पिछले साल भी यूनिवर्सिटी में सर्वाधिक अंक हासिल किए थे लिहाजा दूसरे साल उन पर थोड़ा दबाव था लेकिन मेरे शिक्षकों ने हौसला दिया कि बिना किसी मानसिक उलझन के तैयारी जारी रखो। मैं खुश हूं कि मैंने दूसरे साल भी प्रावीण्य सूची में पहला स्थान हासिल करने में सफलता हासिल की। मूलतः हाथरस की रहने वाली कृतिका को पढ़ाई के साथ-साथ खाली समय में बैडमिंटन और बास्केटबाल खेलना पसंद है।

इस शानदार उपलब्धि पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए आर.के. एज्यूकेशन हब के अध्यक्ष डा. रामकिशोर अग्रवाल का कहना है कि वैसे प्राध्यापक कक्षा में सभी छात्र-छात्राओं को एक जैसी तालीम देते हैं लेकिन कृतिका जैसी बेटियां अपनी अथक मेहनत और लगन से प्रावीण्य सूची में पहला स्थान बनाती हैं। कृतिका का इस उपलब्धि से अन्य छात्र-छात्राओं को सीख लेनी चाहिए। डा. अग्रवाल ने कृतिका को बधाई देते हुए कहा कि वे कुशल डाक्टर बनकर समाज की सेवा करेंगी ऐसा मेरा विश्वास है। चेयरमैन मनोज अग्रवाल ने बधाई देते हुए कहा कि कृतिका की यह शानदार सफलता इस बात का सूचक है कि मेहनत कभी बेकार नहीं जाती। कालेज की प्राचार्य डा. मंजू नवानी, निदेशक एकेडमिक एण्ड रिसर्च डा. अशोक कुमार धनविजय और प्रशासनिक अधिकारी अरुण कुमार अग्रवाल ने इसे विशेष उपलब्धि बताते हुए कृतिका को बधाई देते हुए उसके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *