कृष्णा मारुति ग्रुप ने किया Campus Placement

Campus Placement में संस्कृति यूनिवर्सिटी के 65 छात्र बने ट्रेनी इंजीनियर

मथुरा। जनपद मथुरा में उच्च शिक्षा के क्षेत्र में संस्कृति यूनिवर्सिटी के छात्र-छात्राएं लगातार नई मिसाल कायम कर रहे हैं। गुरुवार को ख्यातिनाम कृष्णा मारुति ग्रुप कम्पनी के पदाधिकारियों ने कैम्पस प्लेसमेंट में 65 छात्र-छात्राओं को ट्रेनी इंजीनियर के रूप में सेवा का आफर दिया है। शिक्षा पूरी करने से पहले ही एक बड़ी कम्पनी में सेवा का अवसर मिलने से छात्र ही नहीं उनके अभिभावक भी खुश हैं।

ज्ञातव्य है कि गुरुवार आठ फरवरी को ख्यातिनाम कृष्णा मारुति ग्रुप कम्पनी के कार्पोरेट हेड विजय यादव और मैनेजर एच.आर. विनोद कुमार ने संस्कृति यूनिवर्सिटी में कैम्पस प्लेसमेंट किया। कम्पनी पदाधिकारियों ने यहां के छात्रों के हर पहलू को लिखित परीक्षा के साथ ही साक्षात्कार के माध्यम से जांचा-परखा और संतुष्ट होने पर 65 छात्र-छात्राओं को ट्रेनी इंजीनियर के रूप में सेवा का आफर दिया। छात्र-छात्राओं की प्रतिभा का आकलन करने से पहले कार्पोरेट हेड विजय यादव और मैनेजर एच.आर. विनोद कुमार ने उन्हें कम्पनी के कामकाज से अवगत कराया, उसके बाद उनकी लिखित परीक्षा ली। लिखित परीक्षा पास करने वाले छात्रों का साक्षात्कार लेने के बाद डिप्लोमा, डिप्लोमा मैकेनिकल इंजीनियरिंग, आटोमोबाइल और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के 65 छात्रों को गुड़गांव और अहमदाबाद में ट्रेनी इंजीनियर के रूप में अतिशीघ्र ज्वाइनिंग देने को कहा।

चयनित छात्र-छात्राओं ने कहा कि शिक्षा पूरी करने से पहले ही जाब मिलना उनके लिए खुशी की बात है। यह सब संस्कृति यूनिवर्सिटी में प्लेसमेंट पूर्व कराई जा रही तैयारियों का नतीजा है। संस्थान के कुलाधिपति सचिन गुप्ता और उप-कुलाधिपति राजेश गुप्ता का कहना है कि संस्कृति यूनिवर्सिटी का उद्देश्य छात्र-छात्राओं को तकनीकी शिक्षा में दक्ष करने के साथ ही उन्हें आत्मनिर्भर बनाना है। यह खुशी की बात है कि संस्थान के छात्र-छात्राओं को बड़ी-बड़ी कम्पनियां लगातार सेवा का अवसर दे रही हैं। कुलपति डा. देवेन्द्र पाठक, कार्यकारी निदेशक पी.सी. छाबड़ा, एसोसिएट डीन एकेडमिक डा. संजीव सिंह, निदेशक इंजीनियरिंग डा. राकेश धीमान, हेड कार्पोरेट रिलेशन आर.के. शर्मा, मैनेजर कार्पोरेट रिलेशन तान्या उपाध्याय, राहुल कुमार ने चयनित छात्रों को Campus Placement पर बधाई देते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।