सीबीआई के डर से लापता हुए कोलकाता पुलिस प्रमुख Rajiv Kumar

रोज वैली और शारदा घोटाले में अहम फाइलों और दस्तावेजों के गायब होने के सिलसिले में Rajiv Kumar से  होगी पूछताछ 

कोलकाता। रोज वैली और शारदा पोंजी घोटाले में कोलकाता पुलिस प्रमुख Rajiv Kumar लापता हैं, सीबीआई पूछताछ के लिए उनकी तलाश कर रही है। अधिकारियों के मुताबिक, सीबीआई Rajiv Kumar को गिरफ्तार भी कर सकती है। सीबीआई कुछ अहम फाइलों और दस्तावेजों के गायब होने के सिलसिले में Rajiv Kumar से पूछताछ करना चाहती है। वह सीबीआई की तरफ से जारी नोटिसों का जवाब नहीं दे रहे हैं।

सीबीआई कोलकाता पुलिस प्रमुख राजीव कुमार का पता लगाने की कोशिश कर रही है, जो रोज वैली और शारदा पोंजी घोटाले के सिलसिले में पूछताछ के लिए बुलाए जाने के बाद से कथित रूप से गायब हैं। इस संबंध में जांच एजेंसी के अधिकारियों ने कहा कि वह उनसे इसी तरह बचने की कोशिश करते रहेंगे तो उनकी गिरफ्तारी पर विचार किया जा सकता है।

बता दें कि रोज वैली और शारदा पोंजी घोटाला मामले में कोलकाता पुलिस प्रमुख राजीव कुमार से पूछताछ करने के लिए सीबीआई उनका पता लगाने की कोशिश कर रही है. इस मामले में उन्हें गिरफ्तार भी किया जा सकता है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

रोज वैली घोटाला 15,000 करोड़ रुपये , सारदा घोटाला 2500 करोड़ रुपये का 

घोटालों की जांच में पश्चिम बंगाल पुलिस की विशेष जांच टीम का नेतृत्व करने वाले आईपीएस अधिकारी से लापता दस्तावेजों और फाइलों के सबंध में पूछताछ की जानी है लेकिन वह जांच एजेंसी के समक्ष पेश होने से संबद्ध नोटिसों का जवाब नहीं दे रहे हैं.

ममता ने ट्वीट कर कहा है, “कोलकाता पुलिस कमिश्नर दुनिया के सबसे अच्छे लोगों में से एक हैं। उनकी ईमानदारी और बहादुरी निर्विवाद है। वह 24×7 काम कर रहे हैं और हाल ही में केवल एक दिन की छुट्टी ली है। अब आप झूठ फैला रहे हैं, तो झूठ हमेशा झूठ ही रहेगा।”

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कोलकाता पुलिस प्रमुख के बचाव में उतर आई हैं। उनका कहना है कि भाजपा विरोधी दलों को निशाना बना रही है और पुलिस को नियंत्रण में करने के लिये अपनी ताकत का गलत इस्तेमाल कर संस्थानों को बर्बाद कर रही है।

गौरतलब है कि Rajiv Kumar ने चिटफंड घोटालों की जांच करने वाली पश्चिम बंगाल पुलिस की स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम का नेतृत्व किया था

1989 बैच के पश्चिम बंगाल कैडर के आईपीएस अधिकारी कुमार निर्वाचन आयोग के अधिकारियों के साथ बैठक में भी शामिल नहीं हुए। आयोग के अधिकारी चुनाव की तैयारियों के संबंध में उनसे मिलने गए थे। संपर्क किए जाने पर उनके कर्मचारी ने दावा किया कि कुमार शुक्रवार को कार्यालय आए थे लेकिन चले गए थे।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »