जानिए… ब्रेकफास्ट में दूध लेना बेहतर है या जूस पीना ?

कुछ लोगों को ब्रेकफास्ट में दूध पीना पसंद होता है तो किसी को जूस पीना। लेकिन इन दोनों में से कौन सी आदत आपके शरीर के लिए बेहतर है। दूध और ऑरेंज जूस दोनों के फायदे नुकसान के बारे में जानकर आप खुद तय कर पाएंगे कि ब्रेकफास्ट के तौर पर किसका सेवन करना बेहतर होगा।
यह बात न सिर्फ हमारे बड़े बुजुर्ग कहते आ रहे हैं बल्कि अब तो यह बात पूरी तरह से साबित भी हो चुकी है कि ब्रेकफास्ट हमारे दिन का सबसे अहम मील है और किसी भी हाल में ब्रेकफास्ट को स्किप नहीं करना चाहिए।
इतना ही नहीं, आप ब्रेकफास्ट में क्या खाते हैं इस पर ध्यान देना बेहद जरूरी है। रात के डिनर के बाद जब हम सोते हैं तो कम से कम 8-9 घंटे की फास्टिंग हो जाती है, और ऐसे में सुबह-सुबह शरीर को फिर से एनर्जी पाने के लिए ब्रेकफास्ट की जरूरत होती है लिहाजा पोषक तत्वों से भरपूर चीजों को ब्रेकफास्ट में शामिल करना चाहिए।
लेकिन एक सवाल जो अक्सर लोगों के मन में आता है कि- ब्रेकफास्ट में दूध पीना चाहिए या जूस? बहुत से लोग ब्रेकफास्ट में कैल्शियम से भरपूर 1 गिलास दूध पीना पसंद करते हैं तो वहीं कुछ लोगों को सुबह-सुबह ब्रेड-टोस्ट या ऑमलेट के साथ विटामिन सी से भरपूर 1 गिलास ऑरेंज जूस पीना पसंद होता है।
​दूध पीने के हैं इतने फायदे
​दूध कैल्शियम का तो बेस्ट सोर्स है ही साथ ही दूध में प्रोटीन, विटामिन बी 12, हेल्दी फैट्स आदि भी भरपूर मात्रा में होते हैं। सदियों से दूध को एक कम्प्लीट मील के तौर पर देखा जाता रहा है। दूध के तमाम फायदों की वजह से ही शरीर को हेल्दी और एक्टिव रखने के लिए बड़ी संख्या में लोग दूध का सेवन करते हैं। ऐसे में देखा जाए तो सुबह ब्रेकफास्ट में दूध पीना फायदेमंद हो सकता है।
दूध के कुछ नुकसान भी हैं
दूध में सैच्युरेटेड फैट होता है जिससे मोटापा और दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा हो सकता है। साथ ही इन दिनों दूध देने वाले जानवरों को इंजेक्शन भी लगाया जाता है ताकि वे ज्यादा दूध दे सकें और इस इंजेक्शन का भी हमारी सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है। ऐसे में जब तक आप दूध की क्वॉलिटी को लेकर पूरी तरह से आश्वस्त न हों सुबह-सुबह दूध पीने से बचें। बहुत से लोगों में लैक्टोज इनटॉलरेंस की भी दिक्कत होती है और ऐसे लोगों को भी दूध से बचना चाहिए। कई बार ज्यादा दूध पीने से डाइजेशन से जुड़ी दिक्कतें भी हो जाती हैं। हालांकि आप चाहें तो डेयरी मिल्क की जगह सोया मिल्क का सेवन कर सकते हैं।
​विटामिन सी से भरपूर ऑरेंज जूस के फायदे
विटामिन सी और एंटिऑक्सिडेंट्स से भरपूर ऑरेंज जूस हमारी शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाकर हमें बीमारियों से दूर, फिट और हेल्दी रहने में मदद करता है। विटामिन सी शरीर को वातावरण से जुड़ी दिक्कतें जैसे- प्रदूषण तथा सूर्य की हानिकारक किरणों से भी बचाता है। ब्रेकफास्ट में अगर आप 1 गिलास ऑरेंज जूस पी लें तो आपके दिनभर की विटामिन सी की जरूरत पूरी हो जाती है।
​ऑरेंज जूस के नुकसान
हालांकि अगर आप घर में खुद ऑरेंज का जूस निकालकर फ्रेश जूस पी रहे हैं तभी वो फायदेमंद होगा। डिब्बाबंद या पैकेज्ड ऑरेंज जूस में चीनी की मात्रा बहुत अधिक होती है और वो फ्रेश नहीं होता, काफी पुराना होता है, उसमें जूस का टेस्ट बढ़ाने के लिए केमिकल्स भी मिले होते हैं। फ्रेश ऑरेंज जूस के साथ भी एक दिक्कत ये है कि जब आप फल का जूस निकालते हैं तो उसके ज्यादातर पोषक तत्व बाहर निकल जाते हैं और जूस में सिर्फ पानी ही रह जाता है।
​ऑरेंज जूस नहीं, दूध है बेहतर
जूस और दूध की इस जंग में दूध बाजी मारता नजर आ रहा है क्योंकि दूध में कैल्शियम होता है जो हमारी हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाता है जबकी ऑरेंज जूस दांतों के इनैमल को नुकसान पहुंचा सकता है।
दूसरी बात ये है कि 1 गिलास दूध पीने से आपका पेट भरा हुआ महसूस होता है और आपको देर तक भूख नहीं लगती जबकि 1 गिलास जूस पीने के बाद आपको पेट भरने वाली फीलिंग नहीं आती। दूध में हेल्दी प्रोटीन होता है जिससे आप दिनभर अनहेल्दी स्नैकिंग करने से बच सकते हैं लिहाजा डिनर और ब्रेकफस्ट के बीच के 8-9 घंटे की फास्टिंग को तोड़ने के लिए जूस से बेहतर ऑप्शन है दूध।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »