राजीव एकेडमी की छात्रा खुशी चौधरी ने तैयार किया महिला सुरक्षा संबंधी मोबाइल एप्स

Khushi Choudhary, a student of Rajiv Academy, prepared the women's safety related mobile app
राजीव एकेडमी की छात्रा खुशी चौधरी ने तैयार किया महिला सुरक्षा संबंधी मोबाइल एप्स

छात्र-छात्राएं माइक्रोसाफ्ट इनोवेशन सेंटर नोएडा में ले रहे साफ्टवेयर डेवलपमेंट पर ट्रेनिंग

मथुरा। साफ्टवेयर डेवलवमेंट की दुनिया में एण्ड्रायड एवं पीएचपी का विशेष महत्व है। विभिन्न साफ्टवेयर कम्पनियां वेब डेवलपमेंट को विशेष महत्व देती हैं। छात्रों की इसी आवश्यकता को समझते हुए राजीव एकेडमी ने अपने एमसीए अंतिम वर्ष के विद्याथियों को एण्ड्रायड एवं पीएचपी पर प्रशिक्षण के लिए माइक्रोसाफ्ट इनोवेशन सेंटर ग्रेटर नोएडा भेजा है। वेब डेवलपमेंट एवं मोबाइल एप डेवलपमेंट की जानकारी हासिल कर इसके प्रोजेक्ट्स बनाना ही इस प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य है।

माइक्रोसाफ्ट दुनिया की सबसे बड़ी साफ्टवेयर डेवलपमेंट कम्पनी है। माइक्रोसाफ्ट इनोवेशन सेंटर ग्रेटर नोएडा में स्थित है। यहां प्रशिक्षण ले रही खुशी चौधरी ने बताया कि पिछले चार महीने की ट्रेनिंग ने उसे तकनीकी तौर पर अधिक सक्षम बनाया है तथा उसके आत्मविश्वास में भी अभूतपूर्व वृद्धि हुई है। उसने माइक्रोसाफ्ट इनोवेशन सेंटर में महिला सुरक्षा संबंधी एक मोबाइल एप तैयार किया है जिसकी टेस्टिंग होना अभी बाकी है।

आर.के. एजूकेशन हब के चेयरमैन डा. रामकिशोर अग्रवाल ने कहा कि सभी छात्र उक्त प्रशिक्षण को मन लगाकर दृढ़ इच्छाशक्ति से पूरा करें ताकि उन्हें आसानी से प्लेसमेंट मिल सके। उम्मीद है कि छात्र-छात्राएं छह माह के प्रशिक्षण के दौरान विशेषज्ञता हासिल कर अपना स्वर्णिम भविष्य अवश्य तय करेंगे।

प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल ने कहा आजकल सामान्य योग्यता के साथ-साथ तकनीकी विशेषज्ञता हासिल करना भी आवश्यक है क्योंकि बिना इसके व्यावसायिक कोर्स में अध्ययन करने का कोई औचित्य नहीं है। ग्रेटर नोएडा का माइक्रोसाफ्ट इनोवेशन सेंटर भारत की जानी-मानी आईटी लैब है जिसमें ट्रेनिंग लेने का सपना हर एमसीए छात्र-छात्रा का होता है। इस लैब में एण्ड्रायड मोबाइल एप्स बनाने की विधियां सिखाई जाती हैं जोकि आईटी की दुनिया के लिए बेहद जरूरी हैं। पीएचपी वेब डिजाइनिंग के लिए महत्वपूर्ण और उपयोगी टूल है जिसका प्रशिक्षण भी इसी माइक्रोसाफ्ट लैब में दिया जा रहा है।

निदेशक डा. अमर कुमार सक्सेना ने कहा कि यहां छात्र-छात्राओं को विभिन्न साफ्टवेयर डेवलपिंग और अलग-अलग प्रकार की वेबसाइटों का निर्माण करना सिखाया जा रहा है ताकि उन्हें जाब मिलने में सहूलियत हो सके। डा. सक्सेना ने कहा है कि माइक्रोसाफ्ट स्वयं में एक बड़ा ब्राण्ड है जिसकी आईटी की दुनिया में अलग पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *