आधार डाटा हैक कर दिखाया खड़गपुर आईआईटी छात्र ने

नई दिल्‍ली। आधार डाटा को हैक कर दिखाने वाले खड़गपुर आईआईटी के छात्र ने सरकार के सामने एक और चुनौती पेश कर दी है कि अब निजता के अधिकार पर नए सिरे से बहस की जाए।

खड़रगपुर आईआईटी के छात्र अभिनव श्रीवास्तव पिछले कुछ दिनों से खबरों में हैं। अभिनव को बेंगलुरु पुलिस ने आधार डाटा चोरी केस में गिरफ्तार किया है। शनिवार को अभिनव से करीब छह घंटों तक पूछताछ की गई। इन छह घंटों में अभिनव ने पुलिस को दिखाया कि किस तरह से उसने शॉर्टकट तरीकों का प्रयोग करके आधार कार्ड से जुड़े संवदेनशील जानकारियों को सरकारी वेबसाइट से पल भर में हैक कर लिया।

अधिकारियों ने अभिनव की हैकिंग प्रक्रिया को वीडियो कैमरा में कैद कर लिया है

साइबर मामलों की जांच करने वाले अधिकारियों ने अभिनव की हैकिंग प्रक्रिया को वीडियो कैमरा में कैद कर लिया है। सूत्रों ने बताया कि अभिनव ने हाइपर टेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल सिक्योर (एचटीटीपी) के यूआरएल में न होने की वजह से उसने एक अस्पताल की वेबसाइट को हैक कर आधार डाटा को चोरी कर लिया। ब्राउजर और वेबसाइट के बीच हुए किसी भी तरह को इनक्रिप्ट नहीं किया जा सका था। एचटीटीपी को बैंक और ऑनलाइन शॉपिंग के लिए होने वाले ऑनलाइन ट्रांजैक्शन को सुरक्षित रखने के लिए प्रयोग किया जाता है।

अभिनव को पहले भी डाटा को चुराने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया था

अभिनव आईआईटी खड़गपुर से एमएससी ग्रेजुएट है। उसे एनआईसी और केवाईसी की ओर से संचालित एक अस्पताल की वेबसाइट पर मौजूद डाटा को चुराने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया था। उस पर आरोप है कि उसने आधार ई-केवाईसी एप को गूगल के प्लेस्टोर पर होस्ट कर दिया था। इस पर क्लिक करते ही किसी को भी सर्वर पर मौजूद आधार डाटा की जानकारी आसानी से मिल सकती थी। हालांकि अभिनव ने पुलिस को बताया है कि डाटा को हैक करने के पीछे उसका कोई अपराधिक मकसद नहीं था।

-एजेंसी