निर्बल वर्ग के लिए Parag ने लांच किए देशी घी के पाउच

हमारी पहली प्राथमिकता है की Parag के उत्पादक समाज के हर वर्ग तक सुलभता से पहुंचे: इंद्र भूषण

फैज़ाबाद। Parag मिल्क आज प्रतियोगिता वादी दौड़ में किसी से पीछे नहीं है क्योंकि पराग ने समय की मांग के साथ ही अपने उत्पादक बाजार में उतार रहा है। इसका उसे सफलता पूर्वक परिणाम भी देखने को मिल रखा है। यही कारण है कि आज पराग के अनेक उत्पादकों को ग्राहक काफी पसंद कर रहे हैं। पराग ने गरीबों व निर्बलों के भोजन को स्वादिष्ट एवं पौष्टिक बनाने एवं उनके सामर्थ्‍य को मद्देनजर रखते हुए पराग देशी घी के 20 एमएल वा 50 एमएल के पाउच को बाजार में लांच किया है जिनकी कीमत मात्र दस वा 25 रूपए निर्धारित की गयी है।

पराग देशी घी पाउच के उद्घाटन समारोह पराग मिल्क के महाप्रबंधक इंद्र भूषण सिंह की अध्यक्षता में शुरू हुआ। इस मौके पर दुग्ध संघ के अध्यक्ष आनंद सिंह, संचालक मंडल के सदस्य मंशा राम वर्मा, उ.प्र. सरकार द्वारा नामित सदस्यों में संतोष कुमार वर्मा, राजा राम, छेड़ी लाल एवं किसान व् दुग्ध विक्रेता उपस्थित रहे।

इस दौरान महाप्रबंधक श्री सिंह ने कहा कि आज पराग की सफलता का सबसे बड़ा कारण है कि इसने अपने ग्राहकों में जो अपने उत्पादक के प्रति शुद्धता का विश्वास बनाया है उसे बरकरार रखा। ये हमेशा बरकरार ही रहेगा। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में पराग की ऊंचाइयां देश के लिए मिाल बनेगी।

आज पराग देशी घी पाउच का शुभारम्भ प्रमुख रूप से गरीब, निर्बल, कम पूंजी वालों एवं विद्यार्थियों के लिया लांच किया जा रहा। हमें पूरा विश्वास है कि इसकी रफ्तार किसी से कम नहीं होगी क्योंकि सभी जगह सुलभता से ग्राहकों को उपलब्ध को कराया जायगा।

इस मौके पर संघ के डायरेक्टर छेदीलाल, सुल्तानपुर के डायरेक्टर मंशाराम वर्मा , राम जीत , कर्मराज, डॉ. संतोष शर्मा मण्डलीये विपणन अधिकारी राम सहोदर त्रिपाठी आदि उपस्थित रहे।

रिपोर्ट: संदीप श्रीवास्‍तव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »