शरीर को फिट और हेल्थी रखते हैं लहसुन और हरी मिर्च

लहसुन और हरी मिर्च न सिर्फ खाने का जायका बढ़ाते हैं बल्कि हमारे शरीर को फिट और हेल्थी रखने में भी इनका काफी अहमियत है। हालांकि ज्यादातर लोग हरी मिर्च और कच्चा लहसुन खाने से परहेज करते हैं लेकिन हम आपको बता रहे हैं हरी मिर्च और लहसुन के खाने के फायदे जिनके बारे में जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे।
हरी मिर्च कई तरह के पोषक तत्वों से भरपूर होती है। इसमें विटमिन ए, विटमिन सी, विटमिन बी6, आयरन, कॉपर, पोटैशियम, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट की काफी मात्रा होती है।
इसके अलावा मिर्च में बीटा कैरोटीन, क्रीप्टोक्सान्थिन, लुटेन-जॅक्सन्थिन जैसी चीजें भी मौजूद होती हैं, जो सेहत के लिए लाभदायक हैं।
वैसे तो आमतौर पर हरी मिर्च का इस्तेमाल खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है लेकिन हाल ही में हुए कई शोधों में दावा किया गया है कि हरी मिर्च खाने से कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है। ज्यादातर लोगों को नहीं पता कि हरी मिर्च डायटरी फाइबर से भरपूर होती है, जो कि एक हेल्थी डाइजेशन के लिए जरूरी है। जिस चीज को खाते समय सलाइवा रिलीज होता है, वे डाइजेशन में मदद करते हैं। इस हिसाब से हरी मिर्च भी पाचन में मददगार होती है।
डायबीटीज पेशेंट्स को खाने के साथ हरी मिर्च जरूर खानी चाहिए। यह बढ़े हुए शुगर लेवल को कम करने में मदद करती है। इसके अलावा हरी मिर्च शरीर के फैट को कम करने में मदद करती है और मेटाबॉलिज्म बढ़ाती है। विटमिन सी से भरपूर होने की वजह से यह स्किन को हेल्थी और चमकदार बनाने में मदद करती है।
आपने यह तो सुना ही होगा कि लहसुन खाने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल होता है लेकिन अक्सर लोग शिकायत करते हैं कि यह नुस्खा काम नहीं आता। इसकी वजह है, लहसुन खाने का गलत तरीका। लखनऊ के केजीमयू के फिजियॉलजी विभाग के डॉ. नरसिंह वर्मा ने अपने 10 साल के शोध में इसका सही तरीका ढूंढ निकाला है। शोध में बताया गया है कि लहसुन चबाकर मुंह में ही घुल जाने दें। ऐसा 1 साल तक रोज किया जाए तो ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल होगा और कलेस्ट्रॉल लेवल भी।
अपने शोध में डॉ वर्मा ने ब्लड प्रेशर और कलेस्ट्रॉल से पीड़ित 100 मरीजों को शामिल किया। इसमें 50 मरीजों को लहसुन चबाकर खाने और मुंह में घुलने के बाद निगलने को कहा गया, जबकि बाकी 50 मरीजों को बीपी और कलेस्ट्रॉल की दवा दी गई। 1 साल के बाद चेकअप में सामने आया कि लहसुन चबाकर निगलने वाले मरीजों का ब्लड प्रेशर और कलेस्ट्रॉल दवा खाने वाले मरीजों की तरह ही सामान्य था।
लहसुन में एलारसिन कंपाउंड होता है। इसमें बीपी, शरीर में सूजन और कलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने की क्षमता होती है। लहसुन को सब्जी में पकाने और दाल में तड़का लगाने से स्वाद तो आता ही है लेकिन इसे कच्चा खाना सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद है।
-एजेंसी