कश्मीर की पहली कार रेसर ने कहा, जम्मू-कश्मीर भारत का हिस्‍सा

जम्मू-कश्मीर को आम तौर पर मोटरस्पोर्ट्स के साथ नहीं जोड़ते, और वह भी बात जब वहां की महिलाओं की हो तो इसका ख्याल जरा मुश्किल से आता है।
लेकिन हुमैरा मुश्ताक इन रूढ़िवादिताओं को तोड़ रही हैं। वह राज्य की पहली महिला रेसर हैं। उन्होंने हाल ही में JK टायर नेशनल रेसिंग चैंपियनशिप, कोयंबटूर में डेब्यू किया।
जम्मू की रहने वालीं 23 वर्षीय हुमैरा सचिन तेंडुलकर की बड़ी फैन हैं। उन्होंने माना कि इलाके के लोगों की सोच बदलने की जरूरत थी।
हुमैरा ने कहा, ‘इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कहां रहते हैं। आप कैसे रहते हैं, यह बात मायने रखती है। मैं जो दिल चाहेगा वह करूंगी। मैं नहीं चाहती कि लोग जम्मू-कश्मीर को एक अलग-थलग इलाका समझें। ऐसा नहीं है। यह भी (भारत का) हिस्सा है।’
उन्होंने आगे कहा, ‘मैं पूरे जम्मू-कश्मीर का प्रतिनिधित्व करना चाहती हूं। हालांकि मैं राजनीतिक मुद्दों में नहीं पड़ना चाहती लेकिन मेरे शहर में सबके पास मोबाइल नेटवर्क और ब्रॉडबैंड इंटरनेट है।’
डेंटिस्ट की पढ़ाई कर रहीं हुमैरा रेसिंग के लिए अपने जुनून को प्रोफेशनली अपनाना चाहती हैं। उनकी कोशिश है कि राज्य के अधिक से अधिक युवाओं को प्रेरित कर सकें। हुमैरा का कहना है, ‘मैं एक मेडिकल स्टूडेंट हूं और मशीनों के प्रति अपने जुनून के चलते मैंने पायलट की भी ट्रेनिंग ली है। फिलहाल मेरा ध्यान रेसिंग पर है।’
कोयंबटूर में अपनी पहली रेस के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘झब मैंने कारी मोटर स्पीडवे पर ट्रेनिंग करनी शुरू की तो मुझे बहुत मजा आया। आई जस्ट वेंट विद द फ्लो।’ हुमैरा ने यहां FLGB4 कैटिगरी में भाग लिया।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *