Domicile नियमों से कश्मीरी पंडितों को मिलेगा उनका अधिकार: नड्डा

नई द‍िल्ली। जम्मू-कश्मीर के लिए Domicile नियम जारी हो गए हैं। पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कहा कि ये नए Domicile नियम सभी शरणार्थियों के साथ ही केंद्र शासित प्रदेश से बाहर रह रहे कश्मीरी पंडितों को उनके लंबित अधिकार दिलाएगा। उन्होंने कहा है कि इन डॉम‍िसाइल नियमों से कश्मीर से बाहर रह रहे कश्मीरी पंडितों के बच्चों को घाटी का डोमिसाइल सर्टिफिकेट मिल सकेगा और वे जम्मू कश्मीर में अपने अधिकार हासिल कर सकेंगे।

जम्मू-कश्मीर प्रशासन की तरफ से सोमवार को जारी नए नियमों के तहत पश्चिम पाकिस्तान के लोगों, वाल्मिकियों, समुदाय के बाहर शादी करने वाली महिलाओं, गैर-पंजीकृत कश्मीरी प्रवासियों और विस्थापित लोगों को जल्द ही आवास अधिकार प्राप्त हो जाएंगे।

उन्होंने ट्विटर पर कहा, आवास संबंधी नए नियमों का जम्मू-कश्मीर में अधिसूचित होना स्वागत योग्य कदम है। यह पश्चिम पाकिस्तान के लोगों समेत अन्य शरणार्थियों, दशकों से जम्मू-कश्मीर में बसे अनुसूचित जाति के कर्मी, जम्मू-कश्मीर से बाहर रह रहे कश्मीरी पंडितों के बच्चों को अब आवास का दावा करने का लंबे समय से अटका अधिकार प्राप्त हो जाएगा। सभी के लिए समानता व गरिमा होगी।

वहीं, भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने आवास संबंधी नए नियमों को अब अधिसूचित कर दिया है। उन्होंने कहा, अधिसूचित किए गए अधिवास संबंधी नए नियम अब जम्मू-कश्मीर के स्थायी निवासी संबंधी पूर्व के नियमों को हटा देंगे जो कि अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35-ए के प्रावधानों को निरस्त किए जाने के साथ ही रद्द हो गए थे। भारत इसकी लंबे समय से प्रतीक्षा कर रहा था।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *