कश्‍मीर: आतंकी बुरहान वानी की बरसी पर बंद से अमरनाथ यात्रा बाधित

श्रीनगर। कश्मीर को पूरे देश से जोड़ने वाले जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात को रोकने की वजह से हजारों अमरनाथ तीर्थयात्री बीच रास्ते में फंस गए हैं। जम्मू क्षेत्र के सीमांत जिलों पुंछ और राजौरी को दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले से जोड़ने वाले मुगल रोड पर अधिकारियों ने रविवार को एहतियातन ट्रैफिक रोक दिया।
बुरहान वानी की बरसी पर बंद
हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकी बुरहान वानी की दूसरी बरसी पर अलगाववादियों ने रविवार को बंद का ऐलान किया था, जिसके बाद पुलिस महानिदेशक एसपी वैद ने अमरनाथ यात्रा को एक दिन के लिए निलंबित रखने की शनिवार को घोषणा की थी।
एक सरकारी अधिकारी ने बताया, ‘किसी भी यात्री को जम्मू के भगवती नगर आधार शिविर से निकलने की इजाजत नहीं दी गई और जो श्रीनगर आ चुके हैं और कश्मीर के रास्ते में हैं उन्हें जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर विभिन्न स्थानों पर रोक दिया गया।’
श्रद्धालुओं से सहयोग की अपील
उन्होंने बताया कि बुरहान की दूसरी बरसी पर अलगाववादियों की बंद की घोषणा के मद्देनजर यह कदम उठाया गया है। डीजीपी वैद शनिवार को कठुआ जिले में अमरनाथ यात्रियों के लिए बंदोबस्त का निरीक्षण करने गए थे। उसी दौरान उन्होंने यात्रा बंद रखने की घोषणा करते हुए तीर्थयात्रियों से सहयोग मांगा था। डीजीपी ने कहा था, ‘यात्रियों की सुरक्षा और सुविधा हमारी शीर्ष प्राथमिकता है। तीर्थयात्रियों से मेरी अपील है कि घाटी में हालात (कानून-व्यवस्था) को ध्यान में रखते हुए वे हमारे साथ सहयोग करें।’
जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर यातायात रोका
रामबन के एक यातायात पुलिसकर्मी ने बताया कि शनिवार शाम करीब 2,000 पर्यटकों और यात्रियों को जम्मू से कश्मीर की ओर जाने से रोका गया। उन्होंने कहा, ‘घाटी में बने हालात के चलते राजमार्ग पर यातायात रोका गया। रविवार सुबह से किसी भी वाहन को जम्मू से श्रीनगर जाने की इजाजत नहीं दी गई।’ एक अधिकारी ने कहा कि राजमार्ग के निकट बनिहाल में सुरक्षा बलों को पर्याप्त संख्या में तैनात किया गया है।
बालटाल में महिला श्रद्धालु की मौत
उधर गांदरबल जिले में अमरनाथ यात्रा के बालटाल आधार शिविर में एक महिला श्रद्धालु का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। इसके साथ ही इस साल यात्रा के दौरान मरने वालों की संख्या 13 हो गई। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि हैदराबाद की निवासी लक्ष्मी बाई (54 वर्ष) को शनिवार रात बालटाल आधार शिविर में दिल का दौरा पड़ा। उन्होंने बताया कि उनका शव आधार शिविर के अस्पताल में है। बता दें कि यात्रा 28 जून को शरू हुई थी। इस बार दो लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं ने रजिस्ट्रेशन कराया है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »