मरीना बीच पर ही दफन होंगे करुणानिधि, मद्रास हाईकोर्ट ने दी अनुमति

तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और दिवंगत डीएमके नेता एम. करुणानिधि के पार्थिव शरीर को मरीना बीच पर दफ़नाया जाएगा.
मद्रास हाईकोर्ट ने कई घंटों तक चली सुनवाई के बाद करुणानिधि को अन्नादुरई की समाधि के बगल में दफनाने की अनुमति दी.
इस मसले पर मंगलवार रात हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के घर पर सुनवाई शुरू हुई थी, जिसे सुबह तक के लिए स्थगित कर दिया गया था.
मरीना बीच पर संस्कार क्यों?
जयललिता, रामचंद्रन और अन्नादुरै, तीनों का अंतिम संस्कार मरीना बीच पर किया गया. करुणानिधि के समर्थक उनका समाधि स्थल यहीं बनाना चाहते थे.
तमिलनाडु सरकार इस बात से इंकार कर रही थी. मामला कोर्ट में पहुंचा और फ़ैसला आया कि करुणानिधि का अंतिम संस्कार मरीना बीच पर ही होगा.
राज्य सरकार का कहना था कि करुणानिधि को अन्ना स्क्वेयर पर जगह नहीं दी जा सकती क्योंकि वहां केवल सीटिंग मुख्यमंत्रियों को जगह दी जाती है. और करुणानिधि पूर्व मुख्यमंत्री हैं.
लेकिन मरीना बीच को लेकर इस ज़िद की वजह क्या है, इस जगह में ऐसा क्या ख़ास है ?
दरअसल, करुणानिधि के समर्थकों की मांग थी कि उनका स्मारक बने और वो भी उनके मेंटर अन्नादुरै की समाधि के बग़ल में, जो मरीना बीच के अन्ना स्क्वेयर पर है.
क्या कहानी है मरीना बीच की?
मरीना बीच, चेन्नई शहर में बना समंदर का कुदरती किनारा है. ये उत्तर में फ़ोर्ट सेंट जॉर्ज से शुरू होता है और दक्षिण में फ़ोरशोर एस्टेट तक जाता है. ये क़रीब छह किलोमीटर में फैला है, जो इसे देश का सबसे लंबा कुदरती शहरी बीच बनाता है.
और ये जगह कई वजह से ऐतिहासिक है. साल 1884 में यहां प्रोमेनेड बना. साल 1909 में यहां देश का पहला एक्वेरियम बना.
आज़ादी के बाद यहां ट्रायंफ़ ऑफ़ लेबर और गांधी की ‘दांडी यात्रा’ वाली प्रतिमा लगाई गई.
साल 1968 में पहली वर्ल्ड तमिल कॉन्फ़्रेंस के समय तमिल साहित्य के कई दिग्गजों की प्रतिमाओं को यहां जगह दी गई.
यहां क्या-क्या है?
इनमें अव्वइयार, तिरुवल्लुवर, कम्बर, सुब्रमनिया भरतियार, भारतीदसन शामिल हैं. साल 1970 में यहां अन्नादुरै का मेमोरियल बनाया गया और 1988 में एमजीआर का स्मारक बना.
इसके बाद कामराज और शिवाजी गणेशन का मेमोरियल बनाया गया और हाल में जयललिता का अंतिम संस्कार यहां किया गया था. कुछ समय में उनका स्मारक यहां बन सकता है.
और अब करुणानिधि के अंतिम संस्कार की इजाज़त के बाद मरीना बीच पर उनका मेमोरियल बनाने की मांग भी उठ सकती है.
चेन्नई के लिए मरीना बीच पर्यटकों के पसंदीदा स्थलों में से एक है. यहां लोग मेमोरियल और प्रतिमाएं, मॉर्निंग वॉक, जॉगर्स ट्रैक, लवर्स स्पॉट, एक्वेरियम देखने पहुंचते हैं.
यहां दो स्वीमिंग पूल भी हैं, जिनमें से एक अन्ना स्वीमिंग पूल है.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »