कर्नाटक: एचडी कुमारस्वामी ने पेश किया 2018-19 का बजट

बेंगलुरु। कई दिनों की खींचतान के बाद कर्नाटक में बनी कांग्रेस और जनता दल (सेक्युलर) की गठबंधन सरकार के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने विधान सौध में 2018-19 के लिए बजट पेश किया। पहले से लगाई जा रहीं अटकलों को सही साबित करते हुए सीएम ने बजट में चुनावी वादे को कुछ हद तक पूरा किया और किसानों के 2 लाख रुपये तक के कर्ज माफ करने की घोषणा की। सीएम ने कर्जमाफी के लिए 34,000 करोड़ रुपये आवंटित करने का ऐलान किया है। हालांकि, इस राहत के साथ ही पेट्रोल, डीजल और बिजली की कीमत बढ़ने से किसानों के साथ ही आम जनता के लिए चिंता की लकीरें खींच दी हैं।
रिपोर्ट्स के मुताबिक कुमारस्वामी ने ₹2,13,734 करोड़ के बजट का ऐलान करते हुए कहा कि वह सिद्धारमैया सरकार की सभी योजनाओं को जारी रखेंगे। सर्विस और ऐग्रिकल्चर सेक्टर पर फोकस रखा गया है। उन्होंने जानकारी दी कि साल 2016-17 में वृद्धि दर 7.5% थी जो 2017-18 में बढ़कर 8.5% पहुंच गई। सरकार की प्राथमिकता किसानों के कर्ज माफ करने के लिए संसाधन जुटाने पर है। उन्होंने भरोसा दिलाने की कोशिश की है कि चुनावी घोषणापत्र में किए गए सभी वादों को पूरा करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है।
किसानों के लिए ये ऐलान
किसानों को नए कर्ज लेने में मदद करने के लिए सरकार डिफॉल्टिंग अकाउंट्स से एरियर खत्म कर देगी जिससे कि क्लियरेंस सर्टिफिकेट आसानी से मिल सकेंगे। इसके लिए 6500 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। पहले चरण में 31 दिसंबर 2017 तक लिए गए कर्ज माफ किए जाएंगे। जिन किसानों ने तय समय के अंदर कर्ज चुका दिए हैं, उन्हें प्रोत्साहन के तौर पर चुकाई गई राशि या ₹25,000, जो भी कम हुआ, सरकार चुकाएगी।
अब यह देखना दिलचस्प होगा कि पहले से चली आ रही योजनाओं और नई योजनाओं के साथ ही कर्जमाफी के साथ सरकार संतुलन कैसे बनाएगी। बता दें कि जेडी (एस) ने चुनाव प्रचार अभियान के दौरान कोऑपरेटिव और राष्ट्रीकृत बैंकों से लिए गए सभी कर्ज सत्ता में आने के 24 घंटे बाद माफ करने का वादा किया था।
पेट्रोल-डीजल-बिजली की कीमतें बढ़ीं
सरकार ने जहां एक ओर किसानों के कर्जमाफ कर खुश करने की कोशिश की, वहीं दूसरी ओर पेट्रोल, डीजल और बिजली के दाम बढ़ाकर उन्हें होने वाले फायदे पर सवाल खड़ा कर दिया। बजट में पेट्रोल के दाम ₹1.14 प्रतिलीटर, डीजल ₹1.12 प्रतिलीटर और बिजली दरें 20 पैसे बढ़ा दी गई हैं।
राहुल ने पहले ही दिए थे संकेत
कर्जमाफी पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को कहा था कि यह किसानों के लिए आशा की किरण होगी। राहुल ने ट्वीट किया था, ‘कर्नाटक बजट की पूर्व संध्या पर मैं आश्वस्त हूं कि हमारी कांग्रेस-जनता दल सेक्युलर गठबंधन सरकार कृषि ऋण माफ करेगी और कृषि को और लाभकारी बनाएगी।’
पूर्ण बजट से सिद्धारमैया थे नाराज
पूर्ण बजट को लेकर सिद्धारमैया की नाराजगी की बात सामने आई थी। उनका मानना है सरकार को नए पूर्ण बजट की जरूरत नहीं है, क्योंकि ज्यादातर योजनाएं पुरानी हैं। उनका कहना था कि सप्लिमेंट्री बजट ही काफी होता।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »