कर्नाटक: एचडी कुमारस्वामी ने हासिल किया विश्वासमत

बेंगलुरु। कर्नाटक विधानसभा में मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने विश्वासमत हासिल कर लिया है। फ्लोर टेस्ट के दौरान कुमारस्वामी के पक्ष में 117 विधायकों के वोट पड़े। इसके साथ ही अब कर्नाटक में राजनीतिक ड्रामेबाजी का पूरी तरह से अंत हो गया है। कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन ने विधानसभा में बहुमत साबित कर दिया है और कुमारस्वामी अब कर्नाटक के मुख्यमंत्री बने रहेंगे।
बता दें कि बहुमत परीक्षण से पहले सदन में काफी हंगामा हुआ और बीजेपी के विधायकों ने वॉकआउट किया।
उधर, विधानसभा में बीजेपी के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने सीएम कुमारस्वामी पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि अगर किसानों के कर्ज माफ करने का ऐलान नहीं होता है तो बीजेपी 27 मई से राज्यव्यापी बंद बुलाएगी। येदियुरप्पा ने कहा कि सत्ता के लिए आप कुछ भी कर सकते हो। येदियुरप्पा ने कांग्रेस के नेता शिवकुमार पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘आप किसी के लिए विलेन हो और किसी के लिए हीरो। आप सबके हीरो नहीं हो सकते।’
उधर, विधानसभा में बीजेपी ने आखिरी समय में स्पीकर के लिए अपने उम्मीदवार का नाम वापस ले लिया। इसके बाद कांग्रेस के रमेश कुमार को सर्वसम्मति से स्पीकर चुना गया। इसे फ्लोर टेस्ट से पहले कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के लिए बड़ी जीत के तौर पर देखा गया।
बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा, ‘हमने अपने उम्मीदवार का नाम वापस ले लिया क्योंकि हम चाहते हैं कि स्पीकर पद की गरिमा बनाए रखते हुए चुनाव सर्वसम्मति से हो।’ बता दें कि एक दिन पहले बीजेपी ने वरिष्ठ नेता एस. सुरेश कुमार को कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर की पोस्ट के लिए अपना उम्मीदवार बनाया था।
ऐसा भी कहा जा रहा था कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी सरकार द्वारा विश्वास मत पेश करने से पहले फ्लोर टेस्ट कराने के उद्देश्य से बीजेपी ने यह कदम उठाया था। बीजेपी के उम्मीदवार उतारने से फ्लोर टेस्ट से पहले स्पीकर चुनाव में जोर-आजमाइश की अटकलें लगाई जा रही थीं लेकिन बीजेपी के उम्मीदवार वापस लेने से कांग्रेस का रास्ता साफ हो गया।
बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा ने कहा है कि अगर सीएम कुमारस्वामी ने किसानों का कर्ज माफ नहीं किया तो वह 28 मई को राज्यभर में बंद का ऐलान करेंगे। इससे साफ हो गया है कि कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार के खिलाफ बीजेपी चुप नहीं बैठेगी।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »