मंसूर खान को 600 करोड़ रुपये बेलआउट पैकेज देने वाली कर्नाटक सरकार

बेंगलुरू। कर्नाटक सरकार के एक मंत्री मंसूर खान को 600 करोड़ रुपये बेलआउट पैकेज देने वाले थे, मगर एक वरिष्ठ आईएएस अफसर की सतर्कता से यह प्लान चौपट हो गया।
इस्लामिक बैंक के नाम पर करीब 30 हजार लोगों को चूना लगाकर दुबई भागे मोहम्मद मंसूर खान के बारे में हर दिन एक नई बात उजागर हो रही है।
सूत्रों ने बताया कि मंसूर खान ने फरार होने से कुछ दिन पहले रमजान के महीने में एक मुस्लिम नेता के जरिए असेंबली में मंत्री से मुलाकात की थी। ज्ञात रहे कि करीब 30 हजार मुस्लिम निवेशकों ने ‘हलाल रिटर्न’ और हद से ज्यादा प्रॉफिट के लालच में अपनी पूंजी मंसूर खान के हाथों में दे दी थी।
साल 2017 से ही शुरू हुईं मंसूर खान की मुश्किलें मई इस साल फरवरी तक काफी बढ़ गईं।
सूत्रों के अनुसार मंसूर खान ने लोन के लिए एक बैंक का रुख किया था। बैंक को मंसूर खान के खिलाफ के जारी धोखाधड़ी के नोटिस के बारे में जब पता चला तो उसने मंसूर ने राज्य सरकार से अनापत्ति प्रमाण-पत्र लाने को कहा।
मंसूर ने अपनी ऊंची पहुंच के चलते इस एनओसी का जुगाड़ भी कर लिया था। हालांकि प्रमुख सचिव स्तर के एक आईएएस अधिकारी ने दस्तावेज पर साइन करने से साफ इंकार कर दिया। मंत्री ने अधिकारी पर काफी दबाव बनाया मगर उसका भी कोई असर नहीं हुआ।
‘अपने पुराने अनुभव से आईएएस ने ली सीख, मंत्री ने भी मान ली हार’
सूत्र ने बताया, ‘हर तरफ से पूरी कोशिश थी कि मंसूर की कंपनी को वैध दिखाया जाए, जिससे सरकार कंपनी की मदद कर सके। मगर आईएएस अधिकारी ने अपनी सूझबूझ से ऐसा होने नहीं दिया। अधिकारी ने पूर्व में एक ऐसे ही केस के अनुभव से यह सीखा था। जब अधिकारी के आगे मंत्री की एक ना चली तो आखिर में मंत्री ने भी हार मान ली।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »