कर्नाटक चुनाव प्रचार: आखिरी दिन राहुल बोले, मेरी मां इटली की हैं लेकिन उन्होंने देश के लिए बहुत कुछ किया

बेंगलुरु। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक चुनाव प्रचार के आखिरी दिन प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीजेपी और पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा। गुरुवार की सुबह ही पीएम नरेंद्र मोदी ने भी नमो ऐप के जरिए कांग्रेस पर जमकर साधा था। कांग्रेस अध्यक्ष ने भी बीजेपी और कर्नाटक में मोदी की यात्राओं को लेकर हल्ला बोला। राहुल ने बीजेपी पर भ्रष्टाचार के समर्थन का आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी के सीएम कैंडिडेट येदियुरप्पा भ्रष्टाचार के आरोप में जेल जा चुके हैं। राहुल ने दलितों-महिलाओं पर अत्याचार को लेकर मोदी की चुप्पी पर सवाल उठाए।
कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हमने कर्नाटक के लिए मनरेगा की तरफ से 35 हजार करोड़ रुपए आवंटित किए। राहुल ने कहा, ‘बीजेपी के रेड्डी ब्रदर्स ने इतने ही पैसों का गबन कर लिया। बीजेपी ने ऐसे लोगों को टिकट दिया है। बीजेपी के सीएम उम्मीदवार येदियुरप्पा भ्रष्टाचार के आरोप में जेल जा चुके हैं। पीएम नरेंद्र मोदी रफाल डील को बताते हैं यह शानदार डील है। मैं भी कहता हूं यह अच्छी डील है, लेकिन मोदीजी के मित्रों के लिए डील अच्छी है।’
‘दलित-महिलाओं पर अत्याचार पर हम बोलते रहेंगे’
पीएम नरेंद्र मोदी के दलितों पर महिलाओं पर अत्याचार करने पर राजनीति नहीं करने पर राहुल गांधी ने कहा कि पीएम बताएं कि वो रोहित वेमुला के मुद्दे पर चुप क्यों रहे? राहुल ने कहा, ‘रोहित वेमुला को मार दिया गया क्योंकि वह दलित था, पढ़ना चाहता था। जब महिलाओं पर अत्याचार हो रहे हैं तो कांग्रेस क्यों नहीं बोलेगी? क्या यह राजनीति की बात नहीं है? महिलाओं के सम्मान से देश का सम्मान जुड़ा है और हम उनके लिए लड़ते रहेंगे।’
मां को लेकर दिया भावुक बयान
राहुल गांधी ने पीएम मोदी और बीजेपी पर निजी हमलों के लिए पलटवार किया। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘मेरी मां इटली की हैं, लेकिन इस देश के लिए उन्होंने बहुत कुछ सहा है और त्याग किया। प्रधानमंत्री ने मुझ पर लेकर जिस तरह के निजी हमले किए क्या वह एक संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति को शोभा देता है? मैंने उनसे सवाल पूछे, जवाब में उन्होंने निजी वार किए। यह कौन से स्तर की राजनीति है?’
BJP के हिंदुत्ववाद पर बोला हमला
कांग्रेस अध्यक्ष ने चुनाव के दौरान मंदिर जाने के बीजेपी के सवाल पर तीखा जवाब दिया। उन्होंने कहा, ‘एक राजनीतिक पार्टी का नेतृतत्वकर्ता होने के नाते मेरी जिम्मेदारी है कि मैं विभिन्न मतों को माननेवाले स्थानों पर जाऊं। मुझे जहां से भी बुलाया जाता है मैं जाता हूं। बीजेपी हिंदुत्व का मतलब नहीं समझती। उनके लिए हिंदुत्व चुनावी राजनीति की रणनीति भर है। हमारे देश में अलग धर्म माननेवाले लोग हैं। हम सबको साथ लेकर चलते हैं।’
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »