कर्नाटक: विश्वास मत से पहले ही येदियुरप्पा ने मुख्‍यमंत्री पद से इस्‍तीफा दिया

बेंगलुरु। हाल ही में कर्नाटक के सीएम बने येदियुरप्पा ने विश्वास मत की बाधा से पहले ही एक भावुक भाषण देने के बाद इस्तीफा दे दिया है। अपने भाषण में येदियुरप्पा ने पीएम मोदी का शुक्रिया अदा किया। आपको बता दें कि 15 मई को काउंटिंग और रिजल्ट के बाद से ही कर्नाटक की सियासी तपिश ने देश का माहौल गरमा दिया था। येदियुरप्पा के इस्तीफा देने के बाद अब कांग्रेस-जेडीएस के पोस्ट पोल अलायंस के लिए रास्ता साफ हो गया है। जेडीएस के कुमारस्वामी कर्नाटक के अगले सीएम बनने की राह पर बढ़ चुके हैं।
येदियुरप्पा के भाषण की बड़ी बातें
– पीएम और अमित शाह ने मुझे सीएम कैंडिडेट बनाया।
– ऐसा शायद पहली बार हुआ जब किसी पीएम ने सीएम कैंडिडट की घोषणा की।
– पीएम मोदी ने कर्नाटक की काफी मदद की।
– आज हमारी अग्निपरीक्षा है।
– मैं कर्नाटक के वोटर्स का शुक्रिया अदा करता हूं
– मैं किसानों के लिए लड़ाई लड़ता रहूंगा।
– जिंदगी भर जंग लड़ता रहूंगा
– ईमानदार नेताओं की जरूरत
– राज्य में जाऊंगा और जीत कर आऊंगा
– अगले साल लोकसभा की 28 में से 28 सीटें जीतेंगे
आपको बता दें कि कर्नाटक की 224 सदस्यीय विधानसभा में 222 सीटों (2 सीटों पर बाद में चुनाव) पर चुनाव हुए थे। इसमें भी जेडीएस नेता कुमारस्वामी 2 सीटों पर जीते थे। इस हिसाब से बहुमत 221 सीटों के लिहाज से 111 विधायकों के समर्थन पर आता। बीजेपी के पास 104 विधायक थे जबकि पोस्ट पोल अलायंस का दावा कर रही कांग्रेस-जेडीएस अन्य विधायकों को मिलाकर 118 विधायकों के समर्थन का दावा कर रही थी।
आपको बता दें कि कर्नाटक का यह हाई प्रोफाइल मामला सुप्रीम कोर्ट तक भी पहुंचा। राज्यपाल ने जब सबसे बड़ी पार्टी के रूप में बीजेपी को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया था। कांग्रेस-जेडीएस शपथ ग्रहण रुकवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई थीं। सुप्रीम कोर्ट ने शपथ ग्रहण पर रोक लगाने से इंकार कर दिया लेकिन बहुमत साबित करने के लिए 14 दिनों की मोहलत को घटाकर एक दिन कर दिया। सुप्रीम कोर्ट ने आज शनिवार 4 बजे तक बीएस येदियुरप्पा को बहुमत साबित करने का आदेश दिया था।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »