कमला हैरिस बनीं डेमोक्रैट उप-राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार, नस्‍लभेद पर बोलीं

वॉशिंगटन। कमला हैरिस ने उप-राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवारी को स्वीकार कर लिया है. इसके साथ ही वे किसी मुख्य पार्टी से उप-राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बनने वाली पहली ब्लैक और दक्षिण एशियाई मूल की महिला बन गई हैं.
उन्होंने अपने भाषण के दौरान ख़ुद को भारत और जमैका के अप्रवासियों की बेटी बताया और कहा कि वे ‘ट्रंप के चार साल के विभाजनकारी दौर के बाद सामवेश के सिद्धांतों को फिर से स्थापित करने का प्रयास करेंगी.’
पिछले हफ़्ते डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडन ने भारतीय मूल की सीनेटर कमला हैरिस को उप-राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार चुना था.
बाइडन और हैरिस तीन नंवबर को होने वाले चुनाव में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उप-राष्ट्रपति माइक पेंस को चुनौती देंगे.
डेमोक्रेटिक नेशनल कमेटी के कन्वेंशन में कैलिफ़ोर्निया से सीनेटर कमला हैरिस ने अपने भाषण के दौरान कहा कि डोनाल्ड ट्रंप को असफल नेता क़रार दिया. उन्होंने कहा कि ट्रंप ‘नेतृत्व करने में नाकाम’ रहे.
कमला ने ट्रंप पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘वो हमारे ऊपर आई आपदाओं को राजनीतिक हथियार में तब्दील कर देते हैं.’
हैरिस ने क्या कहा?
डेलावेयर में डोनाल्ड ट्रंप के होम-टाउन विलमिंगटन में एक होटल के बॉलरूम में हैरिस ने कहा, “हम एक अहम मोड़ पर खड़े हैं.”
उन्होंने कहा “लगातार मचने वाली उथल-पुथल हमें भटका देती है. अयोग्यता से हमारे अंदर डर पैदा होता है. बेरुख़ी हमें अकेला कर देती है. बात ये है कि हम और बेहतर कर सकते हैं और कहीं ज़्यादा के हक़दार हैं.”
कमला ने कहा, “हमें ऐसा राष्ट्रपति चुनना होगा जो कुछ अलग, कुछ बेहतर लेकर आये और मत्वपूर्ण काम करे.”
अपने भाषण में कमला ने काले लोगों पर कोरोना वायरस की ज़्यादा मार से लेकर हाल के महीनों में देशभर में हुए नस्लभेद विरोधी प्रदर्शनों पर खुलकर बात की.
उन्होंने कहा, “नस्लभेद की कोई वैक्सीन नहीं है. हमें ख़ुद इसे दूर करना होगा.”
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *