योगी आदित्यनाथ से मिली कल्पना तिवारी, राज्य सरकार पर पूरा भरोसा जताया

लखनऊ। पुलिस कॉन्स्टेबल की गोली से ऐपल के सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी की मौत के मामले में उनकी पत्नी कल्पाना तिवारी ने सोमवार को सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। इस मामले में यूपी पुलिस के कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी पर विवेक की गोली मारकर हत्या का आरोप लग रहा है। सीएम योगी से मुलाकात कर लौटने पर कल्पना ने कहा कि उन्हें पूरी मदद का भरोसा दिया गया है।
डेप्युटी सीएम दिनेश शर्मा विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना तिवारी और उनके साले विष्णु शुक्ला को अपने साथ लेकर मुख्यमंत्री आवास 5, कालिदास मार्ग पहुंचे थे। यहां दोनों ने सीएम योगी से मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान डेप्युटी सीएम दिनेश शर्मा भी मौजूद रहे। सीएम योगी से मिलने के बाद कल्पना ने मीडिया से कहा, ‘सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के बाद राज्य सरकार पर भरोसा बढ़ा है। नौकरी को लेकर मेरी सीएम से बात हुई है। सीएम ने मुझे मदद का पूरा भरोसा दिया है।’
कल्पना को सरकारी नौकरी, बच्चों के नाम FD
डेप्युटी सीएम दिनेश शर्मा ने इस दौरान कहा, ‘इस मामले में कठोरतम कार्यवाही हो रही है। दिवंगत विवेक तिवारी का परिवार खुद सीएम से मिलने आया। कल्पना को सरकारी नौकरी दी जाएगी। 25 लाख रुपये की आर्थिक मदद विवेक के परिवार को दी जाएगी। साथ ही बच्चों के नाम 5-5 लाख रुपये की एफडी होगी।’
बता दें कि विवेक का परिवार अंत्येष्टि से पहले सीएम को बुलाने की मांग पर अड़ा था। बाद में 25 लाख का मुआवजा और नौकरी का आश्वासन मिलने के बाद परिवार के लोग मान गए थे। रविवार को यूपी के कानून मंत्री ब्रजेश पाठक की मौजूदगी में विवेक का अंतिम संस्कार किया गया।
क्या थी पूरी वारदात
यूपी पुलिस की गोली का शिकार होकर शुक्रवार को जिस युवक ने अपनी जान गंवाई उनका नाम विवेक तिवारी है। विवेक की दो बेटियां हैं। अब तक की रिपोर्ट के मुताबिक ऐपल के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक आईफोन की लॉन्चिंग से घर लौट रहे थे। इसी दौरान रास्ते में यूपी पुलिस के कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी ने उन्हें कार रोकने को कहा। कार नहीं रोकने पर कथित रूप से प्रशांत ने विवेक पर गोली चला दी। गंभीर रूप से घायल विवेक की इलाज के दौरान मौत हो गई। पोस्टमॉर्टम में उनके सिर में गोली मिली थी। इस मामले में दोनों आरोपी कॉन्स्टेबल प्रशांत और संदीप को बर्खास्त कर दिया गया था। साथ ही दोनों को गिरफ्तारी के बाद शनिवार को ही जेल भेज दिया गया था।
पत्नी ने रखीं ये मांगें
मृतक विवेक तिवारी का रविवार को लखनऊ स्थित बैकुंठधाम में अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस दौरान योगी सरकार में कानून मंत्री बृजेश पाठक और कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन भी मौजूद थे। जहां एक ओर एडीजी का यह कहना है कि परिवार द्वारा मांग किए जाने पर सीबीआई जांच कराई जाएगी वहीं, मृतक की पत्नी कल्पना तिवारी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर सीबीआई जांच की मांग की है। इसके साथ ही पुलिस विभाग में नौकरी देने, परिवार का भविष्य सुरक्षित करने के लिए एक करोड़ रुपये बतौर मुआवजा देने को कहा है। आपको बता दें कि शनिवार को डीएम कौशल राज शर्मा ने मृतक के परिवार को 25 लाख रुपये मुआवजा और नौकरी देने का ऐलान किया था।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »