बेहद खास है भारतीय क्रिकेट टीम के लिए 10 जून का दिन

नई दिल्‍ली। भारतीय क्रिकेट टीम के लिए 10 जून का दिन बेहद खास है। भारत ने इस दिन पहली बार लॉर्ड्स मैदान पर टेस्‍ट मैच में जीत हासिल की थी। कपिल देव की अगुआई में भारतीय टीम ने 10 जून 1986 को इंग्‍लैंड को 5 विकेट से हराकर इतिहास रचा था।
लॉर्ड्स को क्रिकेट का मक्का कहा जाता है और वहां जीत दर्ज करना अपने आप में क्रिकेट के हज के बराबर है। 1986 में भारतीय टीम जब इंग्‍लैंड दौरे पर गई थी तो पहले ही टेस्‍ट मैच में ऐसी अप्रत्‍याशित जीत मिल जाएगी यह किसी ने नहीं सोचा था।
भारत ने 5 विकेट से जीता था लार्ड्स टेस्ट
इस मैच में इंग्‍लिश टीम ने ओपनर ग्राहम गूच के 114 और डैरेक प्रिंगल के 63 रन के दम पर पहली पारी में 294 रन बनाए थे। जवाब में भारतीय टीम ने अपनी पहली पारी 341 रन पर समाप्‍त की। इसके बाद इंग्‍लैंड के बल्‍लेबाज दूसरी पारी में 180 रन पर ही सिमट गए। ऐसे में भारत के पास मैच जीतने का बेहतरीन मौका था और उन्‍होंने दूसरी पारी में 5 विकेट खोकर 136 रन का लक्ष्‍य हासिल कर लिया और इतिहास रच दिया।
कपिल देव बने थे प्लेयर ऑफ द मैच
कपिल देव ने 10 गेंदों पर नाबाद 23 रन बनाकर भारत को शानदार जीत दिलाई थी। उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया था। कपिल ने मैच में कुल 5 विकेट चटकाए थे जिसमें दूसरी पारी के चार विकेट शामिल थे।
पहली पारी में चेतन शर्मा ने चटकाए थे 5 विकेट
भारत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया था। इंग्लैंड ने पहली पारी में 294 रन बनाए। भारत की ओर से चेतन शर्मा ने 5 विकेट चटकाए। जवाब में भारतीय टीम ने दिलीप वेंगसरकर के नाबाद 126 रन के दम पर अपनी अपनी पहली पारी में 341 रन बनाकर अहम बढ़त हासिल की।
भारत ने सीरीज पर 2-0 से किया था कब्जा
दूसरी पारी में कपिल ने 52 रन देकर 4 और मनिंदर सिंह ने 3 विकेट चटकाए। भारत ने लीड्स में खेले गए सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच में 279 रन से जीत दर्ज की। सीरीज का तीसरा और अंतिम टेस्ट ड्रॉ रहा था। इस तरह टीम कपिल की टीम इंडिया ने सीरीज 2-0 से अपने नाम की।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *