जूस और डायट भी यूरिन इंफेक्शन से राहत दिलाने में कारगर

यूरिन इंफेक्शन होने पर अगर आप दवाइयों के साथ ही अपनी डायट में कुछ चीजों को शामिल कर लेते हैं तो आपको जल्द राहत मिलती है। हालांकि यूटीआई की प्रॉब्लम महिलाओं में अधिक होती है लेकिन कई कारणों से पुरुष भी इसकी चपेट में आ सकते हैं। डायट में कुछ खास जूस और फ्रूट शामिल करके ना केवल यूरिन इंफेक्शन से मुक्ति पाई जा सकती है बल्कि इससे बचा भी जा सकता है।
जलन कम करता है
दवाइयां अपने तरीके से काम करती है और इंफेक्शन फैलानेवाले बैक्टीरिया को खत्म करती हैं लेकिन अच्छी डायट शरीर को ताकत देने का काम करती है ताकि बैक्टीरिया को फिर से पनपने का मौका ही ना मिले।
जूस और डायट से हीलिंग
जूस पीने से हमारे शरीर को एनर्जी मिलती है और हीलिंग प्रॉसेस तेज होती है। इससे बैक्टीरिया बढ़ने की प्रॉसेस पर लगाम लगती है। प्राइवेट पार्ट में हो रही इचिंग और जलन में राहत मिलती है।
नींबू पानी
सर्दियों के मौसम में नींबू पानी पीने की सलाह पर आप नाराज हो सकते हैं लेकिन इस मौसम में आपको नींबू गर्म पानी में निचोड़कर, काला नमक और जीरा पाउडर के साथ थोड़ी शुगर मिलाकर टेस्टी ड्रिंक तैयार करना है। इससे आपको सर्दी से राहत मिलेगी और इंफेक्शन पर लगाम लगेगी।
गाजर और चुकंदर का जूस
गाजर और चुकंदर का जूस पीने से ना केवल शरीर की कमजोरी दूर होती है बल्कि स्किन भी ग्लोइंग बनती हैं। इन फायदों के साथ ही यह जूस यूरिन इंफेक्शन में भी राहत देता है।
जलन से राहत
यूरिन में हो रही जलन से राहत पाने के लिए आप छाछ और लस्सी जैसे पेय पदार्थों का सेवन करें। इससे आपको यूरिन पास करते समय जलन की समस्या में राहत मिलेगी। याद रखें यह सब आपको डॉक्टर की दी गई दवाइयों के साथ करना है। इस मौसम में छाछ और लस्सी दिन के समय ही पिएं, जब धूप हो।
बेरीज के जूस हैं कारगर
बेरीज के जूस यूरिन इंफेक्शन में खास राहत देते हैं। जैसे, क्रेन बेरी, ब्लू बेरी, आंवला का जूस यूरिन इंफेक्शन के समय जरूर पीना चाहिए। बेरी में एंटिऑक्सीडेंट्स होते हैं। बेरी खाने और इनका जूस पीने से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है।
संतरे और मौसमी का जूस
संतरे और मौसमी का जूस यूरिन इंफेक्शन को दूर करने में मददगार है। इनमें मौजूद साइट्रिक एसिड और एंटिऑक्सीडेट्स यूरिन इंफेक्शन में राहत देते हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *