खुद न्‍याय के इंतजार में हैं लालू को सजा सुनाने वाले जज साहब

जालौन। चारा घोटाले के एक मामले में राष्ट्रीय जनता दल सुप्रीमो और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के खिलाफ फैसला सुनाने वाले सीबीआई कोर्ट के जज शिवपाल सिंह को खुद जमीन के एक मामले में न्याय का इंतजार है।
उत्तर प्रदेश के जालौन जिले के रहने वाले जज शिवपाल सिंह इन दिनों अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं ताकि उनके शेखपुर खुर्द गांव में उनकी पैतृक जमीन वापस मिल सके।
इस मुद्दे के समाधान के लिए जज सिंह काफी प्रयास कर रहे हैं। जालौन के तहसीलदार जितेंद्र पाल ने बताया कि जमीन को मुक्त कराने के लिए सिंह उनसे मिलने आए थे। शिकायत को सुनने के बाद जमीन विवाद की जांच के लिए एक दल भेजा गया था। उन्होंने बताया कि उसके बाद से फिर कभी उनकी जज सिंह से मुलाकात नहीं हुई।
उधर, जज के भाई सुरेंद्र पाल सिंह ने कहा कि पूर्व प्रधान ने शिवपाल के जमीन पर बिना किसी अधिकार के चौराहे का निर्माण करा दिया है। बता दें कि जज शिवपाल ने चारा घोटाले के एक मामले में लालू यादव को साढ़े तीन साल जेल की सजा सुनाई है। सुनवाई के दौरान जज शिवपाल ने लालू यादव पर कई मजेदार कॉमेंट किए थे।
लालू प्रसाद ने जज से शिकायत की कि उनके परिचितों को उनसे जेल में मिलने नहीं दिया जा रहा है। इस पर न्यायाधीश ने हंसते हुए कहा कि इसीलिए तो आपको अदालत में बुलाते हैं ताकि आप सबसे मिल सकें। जज के इतना बोलते ही अदालत में ठहाके लगने शुरू हो गए।
पूछताछ के इसी क्रम में लालू ने जज से कहा कि जेल में बहुत ठंड है। इस पर न्यायाधीश ने कहा, ‘तबला बजाइये।’ लालू ने मजाकिया अंदाज में कहा, ‘जेल में एक किन्नर भी बन्द है, गलती से आ गया है।’ इस पर न्यायाधीश ने भी हल्के अंदाज में कहा, आप हैं तो सब ठीक हो जाएगा।
-एजेंसी