JKCA सचिव ने कहा- रणजी ट्रॉफी से हट सकती है जम्मू-कश्मीर की टीम !

  JKCA सचिव  इकबाल अहमद शाह ने कहा-जम्मू-कश्मीर टीम का जीरो बैलेंस, बीसीसीआई ने नहीं दी रकम
नई दिल्‍ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) से अपने बकाए का भुगतान नहीं मिलने की वजह से जम्मू-कश्मीर क्रिकेट टीम वित्तीय सहायता की कमी के कारण रणजी ट्रॉफी से बाहर हो सकती है।

जम्मू एंड कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन (जेकेसीए) रणजी ट्रॉफी सहित कई घरेलू प्रतियोगिताओं से किनारा कर सकता है। जेकेसीए को जिम्मेदार ठहराया गया था और आरोपों को वित्तीय दुर्व्यवहार से बनाया गया था, इसलिए न्यायिक प्राधिकरण ने उसके खातों को जमा रखा है। इसके अलावा बीसीसीआई ने अपने वार्षिक साख को साझा नहीं किया है।

जेकेसीए सचिव इकबाल अहमद शाह ने रविवार को स्पोर्ट्सस्टार से बातचीत में कहा, ‘हमारे बैंक खाते को नियमित करने के लिए और करीब 34 करोड़ रुपए का उपयोग करने के लिए हमें बीसीसीआई का पत्र बैंक को दिखाने की जरुरत होती है। मगर न तो बोर्ड अधिकारीयों, न सीईओ और न ही प्रशासकों की समिति ने पत्र जारी किया है।’

उन्होंने आगे कहा, ‘इसका परिणाम यह है कि हमारे खाते का बैलेंस शून्य है। हम जमा फंड्स का इस्तेमाल नहीं कर सकते और न ही मार्च 2012 के बाद से कोई रकम दी है। 2015 और 2016 के खर्चों के मामूली रीइम्बर्समेंट के अलावा बीसीसीआई ने 150 करोड़ से अधिक रुपए जमा कर रखे हैं। पूरे सीजन में सभी टीमों के खर्चे प्रबंध करने के लिए 7-8 करोड़ रुपए का खर्च आता है।

JKCA  की ओर से कहा गया है कि बोर्ड इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दे रहा है। हमें कुछ टूर्नामेंट्स से बाहर होना पड़ सकता है।’

-एजेंसी