आतंकवाद और ड्रग्स के नेटवर्क को ध्वस्त करेगी जेके पुल‍िस की ANTF

जम्मू। पंजाब की तर्ज पर जम्मू कश्मीर में Anti Narcotics Task Force (ANTF) बना दी गई है जो आतंकवाद और ड्रग्स के नेटवर्क को ध्वस्त करने में काम करेगा। सेना व सुरक्षाबलों के सामने सीमापार आतंक को लेकर नई चुनौती पेश आ रही है, इसमें प‍िछली कई आतंकी घटनाओं में पंजाब का नाम बार बार आ रहा है। ये महज इत्तेफाक नहीं है बल्क‍ि आतंकि‍यों ने पंजाब को आतंक फैलाने के ल‍िए अपना नेेटवर्क बढ़ा ल‍िया है। कश्मीर में सख्ती के बाद आतंकी अब पंजाब से अपना नेटवर्क चला रहे हैं। हमला करने, हथियार मुहैया कराने व नए आतंकी ठिकाने बनाने या आतंकियों के लिए पैसा जुटाने की साजिश पंजाब में रची जा रही है।

व‍िगत 19 मई को ही दी थी ANTF के गठन को मंजूरी  

व‍िगत 19 मई को ही जम्मू कश्मीर सरकार ने प्रदेश में सीमा पार से नशीले पदार्थो की सप्लाई कर आतंकवाद को हवा देने की पाकिस्तान की नापाक हरकत का जवाब देने के लिए एंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स के गठन को मंज़ूरी दे दी थी।

प्रदेश में नशीले पदार्थों की सप्लाई साइड को तोड़ने, इस नशे को सप्लाई करने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करने के और साथ ही नशीली पदार्थों के मामलों की जांच के लिए एक विशेष फोर्स की जरूरत काफी समय से महसूस की जा रही थी, क्योंकि पाकिस्तान लगातार नशीले पदार्थों की सप्लाई कर आखिरी सांसे भर रहे आतंकवाद को ज़िंदा रखने की कोशिश कर रहा था। एंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स के आईजी मनीष किशोर सिन्हा के मुताबिक यह फोर्स न सिर्फ नारकोटिक्स के मामलों का निपटारा करेगी, बल्कि उसी के संदर्भ में सूचनाएं इकट्ठा करेगी। इस फोर्स में शामिल 100 अधिकारियों और जवानों को सिर्फ नारकोटिक्स के मामले डील करने में ही ट्रेनिंग दी जाएगी। एंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स के मुताबिक नारको टेररिज्म में जो बड़ी मछलियां हैं, उन्हें इस फोर्स के गठन के बाद आराम से पकड़ा जाएगा।

खुफिया एजेंसियां भी आतंकियों की इस नई रणनीति को लेकर सतर्क हैं। यही कारण है कि पंजाब की तर्ज पर जम्मू कश्मीर में Anti Narcotics Task Force (ANTF) बना दी गई है जो आतंकवाद और ड्रग्स के नेटवर्क को ध्वस्त करने में काम करेगा।

एजेंसी ने खुफिया सूत्रों के हवाले से बताया है कि कश्मीर के लगभग 50 ओवर ग्राउंड वर्कर (ओजीडब्ल्यू) पंजाब के अलग-अलग हिस्सों में सक्रिय हैं जो वहां बैठकर साजिश रच रहे हैं। पैसा जुटाने के लिए कश्मीर से पंजाब में बड़े स्तर पर हेरोइन, भुक्की, चरस आदि भी भेजी जा रही है।

बड़े आतंकी भी पंजाब के ओवर ग्राउंड वर्करों के लगातार संपर्क में
कश्मीर में मौजूद तमाम बड़े आतंकी भी पंजाब में बैठे ओवर ग्राउंड वर्करों के लगातार संपर्क में हैं। खुफिया एजेंसी के एक उच्च अधिकारी ने बताया कि कश्मीर के ओवर ग्राउंड वर्कर पंजाब में सक्रिय हैं। पंजाब के कुछ इलाकों को वह ट्रांजिट के तौर पर इस्तेमाल कर रहे हैं। यहां से आतंकियों के लिए हथियार जमा करने और पैसा एकत्र करने का काम हो रहा है।

नगरोटा हमले की साजिश भी पंजाब में रची गई थी
पंजाब के तरनतारन में इसी साल ड्रोन से भेजे हथियार बरामद हुए। हथियारों को भेजने में कश्मीर के एक आतंकी का भी हाथ था। दो साल पहले निरंकारी भवन पर हुए आतंकी हमले में जाकिर मूसा का हाथ था। इसके बाद भी मूसा के नाम के पोस्टर पंजाब में दिखे।

इसी साल नगरोटा में आतंकी हमले में पकड़े ओजी वर्कर ने बताया कि उसने पंजाब जाकर हमले की साजिश रची थी। इसके बाद जब रियाज नायकू मारा गया। तब भी पता चला कि रियाज पंजाब के नशा तस्करों से संपर्क में था।

– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *