जे एंड के बैंक घोटाले के तार फारूक अब्दुल्ला से जुड़े

नई दिल्‍ली। जे एंड के बैंक घोटाले की जांच में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को 7 करोड़ रुपये के लोन फ्रॉड का सबूत मिला है। कहा जा रहा है कि इस फर्जीवाड़े का लिंक जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला और उनके कुछ करीबी सहयोगियों से जुड़ा है। जांच से जुड़ी जानकारी रखने वाले ईडी के सूत्रों ने बताया कि फारूक अब्दुल्ला ने अपने कुछ करीबी सहयोगियों की मदद से जे एंड के बैंक में कुछ खाते खुलवाए। इनमें एक खाता अपने सहयोगी अहसान मिर्जा के नाम से खुलावाया जिन्हें चेक पर दस्तखत करने का अधिकार दिया गया था। सूत्रों ने यह दावा जांच में मिले साक्ष्य के आधार पर किया।
उन्होंने आगे कहा कि मिर्जा कोई चयनित अधिकारी नहीं थे, फिर भी जे एंड के क्रिकेट एसोसिशन के प्रेसीडेंट अब्दुल्ला ने उन्हें एसोसिएन का ट्रेजरर (खजांची) नियुक्त कर दिया। उसके बाद जे एंड के बैंक के एक वरिष्ठ अधिकारी के साथ मिलीभगत से एसोसिएशन के सामानंतर खाते खुलवा लिए गए।
जम्मू-कश्मीर बैंक के एक रिटायर्ड सीनियर एग्जिक्युटिव की भूमिका भी जांच के दायरे में है। ईडी पता लगा रहा है कि क्या उन्होंने अब्दुल्ला के कई खाते बैंक में खुलवा दिए जबकि उन्होंने अपर्याप्त दस्तावेज जमा कराए थे। मिर्जा ने इन बैंक अकाउंट्स में लोन लिए और लॉन्ड्रिंग के मकसद से अपने पर्सनल अकाउंट में ट्रांसफर कर दिए। ईडी ने मिर्जा के बयान के आधार पर 31 जुलाई को फारूक अब्दुल्ला से पूछताछ की थी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *