Jinnah controversy: अलीगढ़ में हिन्दू जागरण मंच के तीन नेता हिरासत में लिए

अलीगढ़। Jinnah controversy के कारण आज अलीगढ़ में जुलूस निकालने जा रहे हिन्दू जागरण मंच के तीन नेता हिरासत में ले लिए गए। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में जिन्ना की तस्वीर को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस मामले में विरोध के चलते आज हिन्दू जागरण मंच के तीन नेताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है। ये नेता डीएम आवास तक मार्च निकालने की तैयारी कर रहे थे। इस विरोध प्रदर्शन के चलते किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं। शहर भर में आरएएफ और पीएसी को तैनात किया गया है।

हिंदू जागरण मंच के प्रदेश अध्यक्ष घनश्याम सिंह के द्वारा अलीगढ़ में सैकड़ों छात्रों के साथ एसएमबी इंटर कॉलेज अलीगढ़ में मीडिया से बात करते हुए प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। उन्होंने मांग की है अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में जिन्ना की तस्वीर हटा करके अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय को जमीन देने वाले राजा महेंद्र प्रताप सिंह की तस्वीर लगनी चाहिए। इस मांग को लेकर उन्होंने कहा अगर हमारी मांग नहीं मानी जाएगी, तो हम अलीगढ़ के अलावा कानपुर, ब्रज प्रांत, मेरठ प्रांत और देश भर में इसको लेकर आंदोलन करेंगे।

इससे पहले जिन्ना की तस्वीर को लेकर चल रहे विवाद में सैकड़ों छात्रों का धरना शनिवार को भी जारी रहा। बाब-एक सैयद गेट पर सैकड़ों छात्र धरने पर बैठे। बिहार के सांसद पप्पू यादव और जेएनयू अध्यक्ष गीता ने धरनास्थल पर पहुंच छात्रों का समर्थन करते हुए भाजपा और आरएसएस पर जमकर भड़ास निकाली। उधर, डीएस कॉलेज में भी छात्रों ने जिन्ना का पुतला फूंककर एएमयू को तस्वीर हटाने की चेतावनी दी। वहीं अलीगढ़ में शुक्रवार दोपहार बाद से बंद इंटरनेट सेवाएं शनिवार को ठप रहीं।

जिन्ना का महिमामंडन बर्दाश्त नहीं- सीएम योगी

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर पर विवाद को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि जिन्ना ने हमारे देश का बंटवारा किया, भारत में जिन्ना का महिमामंडन बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।

सीएम योगी ने कहा कि उन्होंने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी मामले में जांच के आदेश दिए हैं, जल्द ही उन्हें इसकी रिपोर्ट भी मिल जाएगी। जैसे ही रिपोर्ट मिलेगी, वह Jinnah controversy मामले में एक्शन लेंगे।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »