झारखंड हाईकोर्ट ने जज उत्‍तम आनंद की मौत का स्वत: संज्ञान लिया

धनबाद। झारखंड के धनबाद में ऑटो से कुचल द‍िए गए जज उत्‍तम आनंद की मौत के मामले में पुलिस ने तीन संदिग्ध आरोपियों को गिरफ्तार किया है। ऑटो चालक समेत तीनों आरोपियों की गिरफ्तारी गिरीडीह से हुई है। पुलिस ने ऑटो भी जब्त किया है। जज की मौत का मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया है। सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष विकास सिंह ने शीर्ष अदालत के समक्ष मामले को रखा है और सीबीआई जांच की मांग की है।

वहीं, जज की मौत मामले को झारखंड हाईकोर्ट स्वत: संज्ञान लिया है। कोर्ट ने सरकार से इस पर जवाब मांगा है। कोर्ट में डीजीपी ने कहा कि जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। इस पर उच्च न्यायालय ने कहा कि अगर जांच सही नहीं हुई तो केस सीबीआई के पास ट्रांसफर किया जाएगा।

सीबीआई जांच की मांग
सुप्रीम कोर्ट के जज डी वाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष वकील विकास सिंह ने कहा कि यह एक ऐसा मामला है, जिसे सीबीआई के पास जाना चाहिए। स्थानीय पुलिस आमतौर पर ऐसे मामलों में शामिल होती है। यह चौंकाने वाला मामला है। एक न्यायाधीश सुबह की सैर पर जाता है और एक वाहन से टकरा जाता है। वे गैंगस्टरों से संबंधित जमानत अर्जी पर सुनवाई रहे थे। यह न्यायिक स्वतंत्रता पर हमला है।

गौरतलब है कि बुधवार की सुबह जिला एवं सत्र न्यायाधीश उत्तम आनंद मार्निंग वॉक पर निकले थे, इसी दौरान रणधीर वर्मा चौक पर पीछे से एक ऑटो ने उन्हें बुरी तरह टक्कर मार दी। घटना के बाद ऑटो चालक वाहन लेकर फरार हो गया। घटना के बाद मौके पर भीड़ जुट गई। स्थानीय लोगों ने जज को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनकी मौत हो गई है। वहीं, पुलिस इस घटना को हत्या की एंगल से जांच कर रही है। जज कई संगीन मामलों की सुनवाई कर रहे थे। आशंका जताई जा रही है कि बदमाशों ने इस घटना को अंजाम दिया है।

सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस कर रही जांच
पुलिस को इस घटना का सीसीटीवी फुटेज मिला है, सीसीटीवी फुटेज में साफ दिख रहा है कि जज उत्तम आनंद सड़क किनारे धीमी गति से दौड़ लगा रहे थे। अचानक पीछे से एक ऑटो  उन्हें टक्कर मारकर तेजी से भाग निकलता है। लोग इसे साजिश बता रहे हैं। बता दें कि उत्तम आनंद हजारीबाग के रहने वाले थे। उनके पिता और भाई हजारीबाग कोर्ट में वकील हैं, जबकि उनके दो साले आईएएस अधिकारी हैं।

– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *