22 हजार सपनों को लेकर ज़मीन पर उतरी Jet Airways

नई दिल्‍ली। चार महीने तक संकट से जूझने के बाद Jet Airways की उड़ानें बुधवार से बंद हो गईं। जेट एयरवेज के बंद होने से करीब 22 हजार लोगों की नौकरियां प्रभावित हुई हैं। Jet Airways के स्किल्ड से लेकर सेमी-स्किल्ड तक, आज जेट के तमाम कर्मचारी परेशान हैं। कर्मचारियों के सामने अब आजीविका की समस्या खड़ी हो गई है। जेट एयरवेज के बंद होने से प्रभावित कर्मी दिल्ली में जंतर मंतर पर जुटे, जहां उन्होंने ‘जेट को बचाओ, हमारे परिवार को बचाओ’ के नारे लगाए।
इतना बुरा है जेट के कर्मचारियों का हाल
जेट के कर्मचारियों को पिछले तीन महीनों से ही वेतन नहीं मिल रहा था। जेट के 22 हजार कर्मचारियों की नींद उड़ गई है और सरकार से अपील कर रहे हैं कि उनके लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए जाएं।
जेट के 53 वर्षीय कर्मचारी ने बताया कि उन्हें पिछले दो महीनों से वेतन नहीं मिला था और अब अपने दो बच्चों के पालन के लिए और अपने परिवार के लिए उन्हें अपना घर तक बेचना पड़ सकता है।

एक अन्य कर्मचारी पूजारी ने कहा कि, ‘नौकरी छूटने की वजह से मैं पूरी रात नहीं सो पाई। मेरे हाथ बंधे हैं। मैं अपनी परेशानी अपने बच्चों को भी नहीं बता पा रही हूं।’

वहीं जेट के एक इंजीनियर ने बताया कि उन्होंने अपने बच्चों की ट्यूशन भी बंद कर दी है। अब वो घर पर ही अपने बच्चों को पढ़ा रहे हैं। कई कर्मचारियों के पास होम लोन या अपने बच्चों के स्कूल की फीस देने के लिए भी पैसे नहीं हैं।

सरकार से की अपील
हाल ही में जेट एयरवेज के कर्मचारी संगठन ने सरकार से सवाल भी पूछा था कि वो कब 22 हजार कर्मचारियों की मदद करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली को पत्र लिख कर कर्मचारी यूनियन ने जेट एयरवेज को फिर से शुरू करने की अपील की थी। इस संदर्भ में पत्रकारों से वार्ता करते हुए जेट एयरवेज कर्मचारी संगठन के अध्यक्ष किरण पावसकर ने कहा कि कंपनी से सीधे तौर पर जुड़े 16 हजार कर्मचारी बेकार हो गए हैं।
नहीं मिलेगी नौकरी
इसके साथ ही पावसकर ने कहा था कि अगर बैंकों ने पैसा नहीं दिया और भविष्य में जेट एयरवेज शुरू नहीं होती है तो फिर कर्मचारियों का भविष्य अंधकारमय हो जाएगा। ज्यादा उम्र वाले कर्मचारियों को दूसरी कंपनियों में नौकरी नहीं मिलेगी।
नरेश गोयल को बाहर करना गलत
आज जेट एयरवेज को पूरी दुनिया जानती है। जिस व्यक्ति ने 25 साल की मेहनत करके इसका नाम पूरी दुनिया में रोशन किया था, उसको ही कंपनी से बाहर कर दिया गया। ऐसे में लगता है जेट एयरवेज से नरेश गोयल को बाहर निकालने में किसी की साजिश है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »