जेईई-मेन्स परीक्षा 18-23 जुलाई तक, नीट परीक्षा 26 जुलाई को

नई दिल्‍ली। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने मंगलवार को घोषणा की कि इंजीनियरिंग संकाय में प्रवेश के लिए जेईई-मेन्स परीक्षा 18-23 जुलाई तक होगी जबकि मेडिकल संकाय में प्रवेश के लिए नीट परीक्षा 26 जुलाई को आयोजित होगी। कोविड-19 से मुकाबले के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन के कारण ये दोनों परीक्षाएं टाल दी गई थी।

निशंक ने कहा, ‘जेईई-मेन्स परीक्षा 18-23 जुलाई तक आयोजित होगी जबकि जेईई-एडवांस्ड अगस्त में होगी। नीट परीक्षा 26 जुलाई को आयोजित होगी। उन्होंने कहा कि 10वीं और 12वीं कक्षा की सीबीएसई बोर्ड की लंबित विषयों की परीक्षा पर जल्द ही निर्णय किया जाएगा।

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) के मुताबिक इन दोनों परीक्षाओं के लिए करीब 15 लाख छात्रों ने रजिस्ट्रेशन करवाया है। अधिकारियों ने कहा कि परीक्षा केंद्रों पर पहले भी छात्र दूर-दूर बैठते थे, जो सोशल डिस्टेंसिंग जैसा ही था। ऐसे में परीक्षा केंद्रों की संख्या पर बहुत ज्यादा असर नहीं पड़ेगा। वहीं, मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि परीक्षा करवाने के लिए गाइडलाइंस लगभग तैयार हैं। इनकी घोषणा शुक्रवार को संभव है।
बता दें कि मानव संसाधन विकास मंत्री ने दूसरी बार छात्रों से सीधे संवाद किया। पहले संवाद में छात्रों और अभिभावकों के साथ शिक्षक और विशेषज्ञ भी जुड़े थे लेकिन इस बार इस सीधे संवाद में सिर्फ छात्रों को ही चुना गया।

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक की महत्वपूर्ण बातें

सीबीएसई परीक्षा तिथियों पर मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा कि जल्द ही तारीखों की घोषणा की जाएगी।
रमेश पोखरियाल ने दीक्षा पोर्टल का उपयोग करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि विभिन्न परीक्षा और विभिन्न भाषाओं का संगम है यह पोर्टल। इसमें इंटरैक्टिव पाठ्यक्रम है। खासकर लॉकडाउन के तहत छात्रों को ई-सामग्री का उपयोग करना चाहिए।
जब एक छात्र ने पूछा कि कॉलेज कब खुलेंगे तब मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा कि यूजीसी कैलेंडर में एक जुलाई से कॉलेज की परीक्षा आयोजित करने और अगस्त में नया सत्र शुरू करने का सुझाव दिया है। बता दें जब कॉलेज स्तर की परीक्षा 1 जुलाई से आयोजित की जाएगी तो जुलाई-अंत तक परिणाम घोषित करने का प्रयास किया जाएगा ताकि सत्र अगस्त से शुरू हो सके।
मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा कि कोविद -19 के कारण शैक्षणिक कार्यक्रम देर से शुरू होगा इसलिए राज्य बोर्ड को शैक्षणिक सत्र शुरू करने के लिए पाठ्यक्रम को कम करने के लिए कहा है।
निशंक ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के छात्रों के लिए हम समझते हैं कि नेटवर्क कनेक्टिविटी के मुद्दे पैदा हो सकते हैं। ऐसे में हम उन तक पहुंचने के प्रयास कर रहे हैं। हम SWAYAM पोर्टल और SWYAM प्रभा दोनों पर स्कूल और कॉलेज पाठ्यक्रम जोड़ रहे हैं। इसमें स्कूल स्तर की सामग्री एनसीईआरटी से लेकर कॉलेज स्तर के पाठ्यक्रम शामिल हैं।
जब एक छात्र ने शिकायत की कि NCERT की किताबें खोजने पर नहीं मिलती हैं तो निशंक ने कहा कि वह अपने अधिकारियों से इस मामले पर जांच करने के लिए कहेंगे। इसके अलावा कहा कि उन्होंने एनसीईआरटी और सीबीएसई के निदेशकों से बात की है कि किसी भी छात्र को किताबों की कमी न हो।
जब एक इंजीनियरिंग के छात्र ने पूछा कि लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन तैयारी कैसे करें तो मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा कि ऑनलाइन प्लेटफॉर्म- Swayam, Swayam प्रभा पर लगभग 2000 ऑनलाइन सामग्री उपलब्ध हैं। इसके अलावा, छात्र अपने अध्ययन के लिए डिजिटल लाइब्रेरी की मदद ले सकते हैं।
मानव संसाधन विकास मंत्री ने जेईई मेन और एनईईटी की तारीखों की घोषणा की। उन्होंने कहा कि JEE मेन परीक्षा 18 जुलाई से 23 जुलाई के बीच आयोजित होगी। जबकि NEET परीक्षा 26 जुलाई को आयोजित किया जाएगा।

-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *